जागरण संवाददाता, पटियाला : आम आदमी पार्टी (आप) ने कोरोना संकट के कारण आर्थिक संकट झेल रहे मध्यम वर्गीय व्यापारियों के लिए पंजाब सरकार से राहत मांगी है। आप नेताओं ने कहा तीन महीनों में व्यापार खत्म हो चुका है और जिदगी को पटरी पर लाने के लिए तीन महीनों के बिजली के बिल, प्रॉपर्टी टैक्स, बैंक किश्तें, सीवरेज, वाटर सप्लाई बिल जैसे खर्च करना मुश्किल है।

आप के व्यापार और ट्रेड विग की पंजाब प्रधान नीना मित्तल और उपप्रधान अनिल ठाकुर ने पार्टी सदस्यों के साथ डिप्टी कमिश्नर को मांगपत्र दिया। नीना मित्तल ने कहा कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार आर्थिक मंदी झेल रहे परिवारों को कोरोना के लॉकडाउन में खर्च चलाने के लिए पैसों की मदद कर रही है। दिल्ली में ऐसा हो सकता है तो पंजाब में क्यों नहीं। पंजाब में कांग्रेस के पार्षदों ने अपने चहेतों को राशन बांटा और दूसरे गरीब नजरअंदाज हुए। पिछले अढ़ाई महीनों से बंद पड़े व्यापार के कारण मध्यम वर्ग के व्यापारियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। आर्थिक तंगी झेल रहे व्यापारी बिजली के बिल, दुकानों का किराया और बैंक लोन की किश्त भर पाने में असमर्थ है। लॉकडाउन में राहत के बाद दुकानदारों को किराया देने के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

नीना मित्तल ने पंजाब में होटल इंडस्ट्री खोलने की मांग की। उन्होंने कहा कि पंजाब में पांच हजार होटल्स, 3500 रिजॉर्ट हैं। होटल, रिजॉर्ट इंडस्ट्री के साथ पंजाब के दस लाख लोग जुड़े हैं। टेंट, हलवाई, केटरिग, लाइट डेकोरेशन, फ्लावर डेकोरेशन, डीजे, साउंड और सभ्याचारक कार्यक्रम वाले बिना काम के बैठे हैं। नियमों के साथ होटल इंडस्ट्री खोलने की कई परिवारों को राहत मिलेगी। इस अवसर पर कुंदन गोगिया, तेजिदर मेहता, विक्की गुप्ता, अभिषेक गर्ग और भूपिदर सिंह मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!