संवाद सूत्र, परमानंद : अमृतसर-पठानकोट एनएच नंबर 15 पर कई जगह मौत के कट हैं। नेशनल हाईवे अथारिटी की ओर से हाल ही में किए गए सर्वे के मुताबिक 101 किलोमीटर के अंदर 12 अवैध कट हैं, जिन्हें सात अगस्त तक बंद करने के आदेश जारी किए गए हैं। इसको लेकर कुछ गांवों के लोग विरोध में उतर आए हैं। उनका कहना है कि अगर कट बंद कर दिया जाता है तो तीन किलोमीटर का सफर तय करना पड़ेगा।

वहीं दूसरी तरफ सड़कों पर कट हादसों का कारण बन रहे हैं। कहीं सड़क के डिवाइडर पर कट हैं तो कहीं हाईवे पर संपर्क मार्गों के कट लगे हुए हैं। लोग गलत तरीके से कटों से वाहनों को निकालने की कोशिश करते हैं और हादसे का शिकार हो जाते हैं। जिले में कई दुर्घटनाएं हो चुकीं हैं, जिनमें कई लोगों की जान जा चुकी है। सड़कों पर कुछ दुकानदारों और प्रतिष्ठान मालिकों ने अपने सामने की सड़क पर बने डिवाइडर को अपनी सहूलियत के अनुसार ही तुड़वा दिया, ताकि दुकान पर ग्राहक को आने में आसानी हो। नियमानुसार तो डिवाइड पर कट होने ही नहीं होने चाहिए। कट होने पर लोग बीच से ही अपना वाहन निकालने की कोशिश करते हैं और दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं। निर्धारित स्थान पर साइन बोर्ड के साथ ही कट लगे होने चाहिए। गांवों के संपर्क मार्गों के कट पर साइन बोर्ड होने चाहिए।

नेशनल हाईवे अथारिटी के अधिकारी पवन कुमार ने बताया कि लोगों ने डीसी से मिलने के लिए समय मांगा है। पंचायत के लेटर पैड पर लिख कर दिया है। इसलिए दो से तीन दिन का समय दिया गया है। डीसी के आदेश के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिले की सीमा में आए नेशनल हाइवे-15 पर आम जनता द्वारा बनाए गए अवैध कटों को बंद को लेकर 26 जुलाई से 7 अगस्त तक पर पुलिस के सहयोग से 12 कटों को बंद करने के लिए आदेश जारी किए गए हैं। यदि इस समय कोई व्यक्ति स्टे आर्डर के आदेश पेश करता है तो उसको भी माना जाएगा। सरना क्षेत्र में हैं 12 में से दस अवैध कट सरना में

नेशनल हाईवे अथारिटी की ओर से हाल ही में किए गए सर्वे के मुताबिक 12 जगहों में से सरना में दस जगह अवैध कट हैं। इसके अलावा धोबरा और लदपालवां में एक-एक कट हैं। लोगों ने जताया विरोध कहा- चार अगस्त तक बात रखने का समय दिया जाए

तीन दिन पहले नेशनल हाईवे अथारिटी की टीम ने प्रशासन के आदेश पर कट को बंद करने की कार्रवाई शुरू की हुई है। शुक्रवार को टीम के एक्सीडेंटल इंचार्ज पवन कुमार व साइड इंचार्ज अवध बिहारी की अगुआई में लदपालवां बस अड्डा के पास अवैध कट बंद करने की प्रक्रिया शुरू की। इसका लोगों ने विरोध जताना शुरू कर दिया। लदपालवां के सरपंच धमेंद्र सिंह व जगतपुर जट्टा के सरपंच रवि कुमार ने बताया कि कट बंद होने से लोगों को दूसरी तरफ जाने में काफी परेशानी होगी। गांव के दूसरी साइड खेल का मैदान, श्मशानघाट, आंगनबाड़ी सेंटर व किसानों के खेत हैं। उन्होंने कहा कि प्रशासन से निवेदन किया गया है कि उन्हें अपनी बात रखने के लिए चार अगस्त तक का समय दिया जाए। इसलिए चार अगस्त तक कट बंद न किए जाएं।

Edited By: Jagran