सूरज प्रकाश, पठानकोट : सिविल अस्पताल पठानकोट में सस्ती रसोई मरीजों व तीमारदारों की भूख मिटा रही है। पठानकोट विकास मंच 23 साल से 500 से 600 लोगों को खाना खिला रहा है। महज दस रुपये थाली का शुल्क रखा गया है लेकिन यदि जरूरतमंद व्यक्ति पर निर्भर करता है कि वह राशि देना चाहता है या नहीं। सस्ती रसोई में खाना पकाने, बैठकर खाने और बर्तन धोने की व्यवस्था की गई है। सिविल अस्पताल में सस्ती रसोई में रोजाना 12.30 से तीन बजे तक लोगों को खाना खिलाया जाता है। जबकि रविवार सुबह, दोपहर और शाम को मंच तीन समय भोजन की सुविधा दी जाती है। इसमें एक सूखी सब्जी, दाल, आचार, सलाद, चावल, चपाती होती है। महीने के एक दिन मंच शाही खाना भी लोगों को खिलाता जाता है, इसमें पूरी, खीर, सूखी सब्जी, पकौड़ियां, दो बढि़या प्रकार की सब्जियां जैसे स्वादिष्ट पकवान खिलाए जाते हैं। मंच के सदस्य एकत्र करते हैं राशि

सस्ती रसोई में भोजन का प्रबंध मंच करता है। मंच के वर्तमान में 400 के करीब सदस्य हैं। यह हर माह बैठक करते हैं, इसमें सस्ती रसोई के प्रबंधन को लेकर चर्चा होती है। सभी सदस्य इस नेक कार्य में अपना आर्थिक सहयोग जरूर करते है। अगर पैसे कम भी पड़ जाते है तो फिर पदाधिकारी खुद से इस मंच में सहयोग डालते हैं। इस कार्य में सरकारी मदद नहीं ली जाती है। मंच सालों से लोगों की सेवा कर रहा है। जरूरतमंद लोगों को भरपेट खाना खिलाना मंच का मुख्य उद्देश्य है। मंच के सभी सदस्यों द्वारा इस कार्य में पूरा सहयोग दिया जा रहा है। लोगों की सेवा में मंच 24 घंटे सेवा के लिए तैयार रहता है।

नरिद्र काला, चेयरमैन, पठानकोट विकास मंच

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!