राजकुमार राजू, पठानकोट : मामून स्थित तालाब पर वीरवार को जल दिवस मनाया गया। भारत विकास परिषद छतवाल क्षेत्रीय संगठन मंत्री सुशील शर्मा बताते है कि जिस स्थान पर आज यह तालाब जल से भरा हुआ दिखाई दे रहा है, कभी यह तालाब असल में कभी सूखा हुआ जंगल था। इस तालाब को पुनर्जीवित करवाने में दैनिक जागरण का प्रयास बेहद प्रशंसनीय रहा है। उन्होंने कहा कि दैनिक जागरण के साथ मिलकर भारत विकास परिषद छतवाल के प्रधान संजीव शर्मा, क्षेत्रीय संगठन मंत्री सुशील शर्मा, महासचिव प्रो. मनु शर्मा, कोषाध्यक्ष कूलभूषण खजूरिया, जितेंद्र बंटी, हरीष, धर्म ¨सह, सतपाल, दिनेश शर्मा, मोहन लाल शर्मा, श्रमदानी स्वर्गीय मेहर ¨सह व केके महाजन ने पहले 24 मई 2016 को एक योजना के तहत मामून इलाका निवासियों के साथ संकल्प लिया कि वह कुछ भी हो जाए वह पिछले 25 वर्षो से सूखे पड़े इस तालाब को पुनर्जीवित करके ही छोड़ेंगे। भारत विकास परिषद छतवाल, शाहपुरकंडी, पठानकोट, सुजानपुर विवेकानंद व गुरदासपुर की भारत विकास परिषद ने संकल्प लिया। करीब 8 कनाल भूमि पर बीच तालाब जो जंगल बना हुआ था उसकी सफाई का काम 26 मई को शुरू कर दिया गया। 22 विभिन्न स्वंय सेवी संस्थाओं में व्यापार मंडल मामून, एनजीओ हंसनी पठानकोट, भारत विकास परिषद पठानकोट, शाहपुरकंडी, सुजानपुर, वैध मंडल, रंग भूमि पठानकोट, वैध मंडल गुरदासपुर, एक्स सर्विस मैन यूनियन पठानकोट, ब्लड डोनर ग्रुप, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, महाजन युवा परिषद पठानकोट ने भी इस तालाब को पुनर्जीवित करने में पूरा समर्पित भाव रखकर सहयोग किया। उन्होंने बताया कि इस तालाब के साइडों पर डंगे लगाए गए है। रिटे¨नग वाल लगायी गई है। मेडिसीन प्लांट लगाए गए है। वॉ¨कग ट्रैक बनाया गया है। लोगों के पीने योग्य वाटर कूलर लगाकर ठंडे पानी की व्यवस्था की गई है। पर्यटकों के लिए बना आराम करने का स्थान

सुशील शर्मा बताते है कि तालाब का पुन निर्माण होने के बाद सभी के सहयोग से तालाब के ईद गिर्द शानदार पार्क बनाया गया। हरी घास लगाने के साथ साथ पर्यटकों के बैठने के लिए आराम दायक बैंच भी लगाये गये साफ सुथरा वातावरण देखकर, पास से गुजरने वाला बरबस ही इस तालाब की और खींचा चला आता है और ठंडी हवाओं और तालाब में नहाने का आनंद उठाता है। यह स्थान अब पर्याटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनने लगा है। जल दिवस पर किया पौधरोपण

इस दौरान भारत विकास परिषद व मामून इलाका निवासियों में भारत विकास परिषद के क्षेत्रीय संगठन मंत्री सुशील शर्मा, जोगेंद्र पाल लवली, जोगेंद्र डबगोत्रा, गुरदेव ¨सह बाजवा, हरि ¨सह, सतपाल, धर्म ¨सह, हरीष चंदेल, नम्बरदार सुरजीत ¨सह, जगजीत, सुभाष चंद्र, मोहन लाल, काला राम व दिनेश खजुरिया ने मिलकर पौधरोपण किया और इलाका निवासियों को पानी बचाओं का संदेश भी दिया। हर वर्ष मनाई जाएगी पुनर्जीवन की वर्षगांठ

इधर सदस्यों ने जहां तालाब की साफ सफाई से लेकर इनके पूरे रख रखाव का संकल्प लिया वहीं उन्होंने यह भी कहा कि अब हर वर्ष मई महीने में इस तालाब के पुनर्जीवित होने की वर्षगांठ मनायी जायेगी और शहर वासियों के सहयोग से भंडारा भी किया जाएगा।

Posted By: Jagran