संवाद सहयोगी, पठानकोट : अपनी विभिन्न मांगों को लेकर कांट्रेक्ट मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर (फीमेल) यूनियन की अनिश्चितकालीन हड़ताल बुधवार को भी जारी रही। बुधवार को भी यूनियन के सदस्यों ने सिविल अस्पताल परिसर में एकत्र होकर हड़ताल की और मांगों को लेकर पंजाब सरकार तथा सेहत मंत्री के खिलाफ रोष जताते हुए नारेबाजी की। मांगों को लेकर कर्मियों ने सेवाओं का बहिष्कार किया हुआ है जिसके कारण गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण, बच्चों का टीकाकरण, बर्थ-डेथ सर्टिफिकेट बनाने के लिए लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। यूनियन की स्टेट सदस्य एवं जिलाध्यक्ष चंचल ने कहा कि सेहत मंत्री बलवीर सिंह सिद्धू कांट्रेक्ट मल्टीपरपज हेल्थ वर्कर की मांगों को लेकर गंभीर दिखाई नहीं दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि सेहत मंत्री ने 19 अगस्त को चंडीगढ़ में पैनल बैठक बुलाई थी जिसे बाद में 21 अगस्त तक स्थगित कर दिया गया था। बैठक स्थगित करने के बाद मंत्री ने 22 को बैठक कैंसिल कर दी। इसी रोषस्वरूप यूनियन के करीब 2 हजार सदस्यों ने 27 अगस्त को चंडीगढ़ में मंत्री बलवीर सिंह सिद्धू की कोटी के बाहर धरना दिया लेकिन, स्थानीय प्रशासन ने मंत्री से 4 सितंबर को बैठक का आश्वासन देकर धरना हटवा दिया। उन्होंने कहा कि उनकी मांगों को लेकर सरकार व सेहत विभाग टालमटोल कर अनदेखी कर रहा है। इसी के चलते यूनियन अब अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गई है। इस मौके पर सरिष्टा, रविद्र कौर, सुनीता, रजवंत कौर, सर्वजीत कौर आदि उपस्थित थे।

इन मांगों को लेकर बैठे हैं धरने पर

-मल्टीपरपज हेल्थ वर्कर के दो माह के वेतन को जारी करवाने संबंधी।

-कांट्रेक्टर मल्टीपर्पज वर्कर (फीमेल) को सेहत विभाग में पक्का और बराबर काम एवं बराबर वेतन तुरंत लागू किया जाए।

-रेगुलर मल्टीपर्पज वर्कर (फीमेल) के खाली पदों पर सीधी भर्ती करने की बजाए विभाग में काम कर रहे एनएचएम की सेकंड कर्मचारी को एडजस्ट करके पक्का किया जाए।

-वर्दी भत्ता, टूर अनाउंस और परिवार समेत सेहत बीमा की सुविधा तुरंत लागू की जाए।

-एनएचएम अधीन 2211 हेड पर कम कर रही समूह हेल्थ वर्कर का ईपीएफ फंड जमा हो

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!