संवाद सहयोगी, पठानकोट : रामलीला ग्राउंड पठानकोट में एक बार फिर किसान बाजार सजेंगे। इस बाजार में किसान स्प्रे रहित पूरी तरह से शुद्ध खाद्य पदार्थों को बेचेंगे। रविवार को किसान बाजार सैली रोड स्थित ट्रक यूनियन ग्राउंड में लगाया जाएगा। वहीं बुधवार ये बाजार कृषि विभाग के इंदिरा कॉलोनी स्थित दफ्तर में लगेगा।

इस बाजार की खास बात यह है कि देसी खाद से तैयार वस्तुओं को खाने के शौकीन लोगों के लिए यह बाजार बेहद लाभप्रद रहेगा। साल 2016 में पहले इस बाजार को पठानकोट में शुरू किया गया था, जिसमें लोगों ने इस बाजार में पहुंच कर ताजा सब्जियां-फल, आचार-चटनी के साथ-साथ अन्य खाद्य पदार्थों की खरीदारी में दिलचस्पी दिखाई थी। यही नहीं इन खाद्य पदार्थों को खरीदने के लिए शहर की कई जानी मानी हस्तियां, कारोबारी, प्रशासनिक अधिकारी भी बाजार में खरीददारी करते दिखते थे। मगर पिछले कुछ समय से ये बाजार कई कारणों से बंद हो गया था। 16 हजार किसानों को फायदा दिलाने के लिए बनी योजना

जिला पठानकोट में 16 हजार किसान परिवार हैं। इन परिवारों को कृषि के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए ही ये योजना शुरू की गई है। किसान खुद अपनी वस्तुओं का मूल्य तय करेंगे। जिला प्रशासन का उद्देश्य कृषि के साथ जुड़े परिवारों में कृषि के प्रति रुचि पैदा करना और खेती को बचाना है। इसमें खपतकार के लिये फीडबैक देने के लिए भी योजना बनाई गई है। यदि खपतकार को वस्तु में कोई खामियां दिखती हैं तो वह सीधे तौर पर कृषि अधिकारियों से बात कर सकता है। बिचौलिया प्रथा खत्म करने के उद्देश्य से किया शुरू

खेतीबाड़ी विभाग के ब्लॉक अफसर डॉ. अमरीक सिंह ने बताया कि किसानों को आर्थिक रूप से सुदृढ़ बनाने और बिचौलिया प्रथा को खत्म करने के उद्देश्य से इसे शुरू किया गया है। आगामी दिनों में इसके ओर भी बढि़यां नतीजे देखने को मिलेंगे। इससे पहले कृषि विभाग पठानकोट में पराली न जलाकर प्रदूषण रहित बना चुका है और अब उनका एकमात्र उद्देश्य लोगों को स्वास्थ्यव‌र्द्धक खाद्य पदार्थ मुहैया करवाना है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!