जागरण संवाददाता, पठानकोट : दो सप्ताह पहले भेजी गई अवैध बिल्डिग निर्माण कार्यो की कार्रवाई की फाइल पर डीसी गुरप्रीत सिंह खैहरा ने हस्ताक्षर कर दिए हैं। शहर के एम्यूनिशन व ओटीजी (ओर्डिनेंस ट्रांजिट कैंप) के एक हजार गज दायरे में बनी आठ इमारतों को निगम अगले सप्ताह सील करने का काम शुरू करेगा। इनके मालिकों को निगम ने दिसंबर में माह नोटिस जारी कर कार्रवाई के लिए चेताया था। दूसरी तरफ चोरी-छिपे निर्माण करवा रहे आठ इमारतों के मालिकों को भी नोटिस जारी कर सप्ताह में जबाव मांगा गया है। आठ जनवरी को निगम की बिल्डिग ब्रांच ने तीन कमर्शियल प्रॉपर्टियों को सील किया था जबकि, मामून एरिया में बनी एक अवैध कॉलोनी में लगाए गए बिजली के पोल को जेसीबी की सहायता से हटाया गया था। इस दौरान निगम की बिल्डिग ब्रांच ने चेतावनी दी थी कि कोई भी व्यक्ति प्रतिबंधित एरिया में निर्माण कार्य न करवाए। यदि कोई निर्माण कार्य करवाते पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी जबकि, हो चुके निर्माण कार्यो पर डिफेंस व सरकार फैसला करेगी। चेतावनी के बाद भी चोरी छिपे निर्माण करवाया

सीलिग के कुछ दिन तो प्रतिबंधित एरिया में कोई कंस्ट्रक्शन नहीं हुई लेकिन, बीते सप्ताह बिल्डिग ब्रांच की नजर में आठ ऐसे धारक पाए गए जिन्होंने अंदरखाते निर्माण कार्य शुरू करवाया हुआ था। निगम की इस कार्रवाई का कांग्रेस ने खुलकर विरोध किया था। इसमें भाई भतीजावाद का आरोप लगाकर निगम प्रशासन पर चुनिदा लोगों को निशाना बनाने की बात कही थी जबकि भाजपा ने इस मसले पर चुप्पी साधी हुई है।

यहां लागू होती है पाबंदी : एम्युनिशन डिपो एवं ऑर्डिनेंस ट्रांजिट कैंप

- हजार मीटर की परिधि में आने वाले स्थान : मामून, लमीनी, सिउंटी, मनवाल

- ओटीजी (ऑर्डिनेंस ट्रांजिट कैंप) की परिधि : मामून, लमीनी, सिउंटी, मनवाल

- प्रभावित आबादी : 20 हजार

- दायरे में हो चुके निर्माण : 1100 भवन

- कमर्शियल भवन : 270

- रिहायशी कॉलोनी : 15

- सेना ने दायर किए उल्लंघना केस : 100

- प्रभावित कॉलोनाइजर : 70

निगम ने तीन कमर्शियल इमारतों को सील करने के बाद उक्त एरिया में आठ अन्य इमारतों को चिन्हित किया था जिन पर कार्रवाई की जानी है। उक्त इमारतों पर कार्रवाई करने के लिए डीसी कम निगम कमिश्नर के पास भेजा गया था जिसे मंजूरी मिल गई है। अगले सप्ताह उन सभी इमारतों को सील करने का काम शुरू कर दिया जाएगा।

एसएस बिद्रा, असिस्टेंट टाउन प्लानर, नगर निगम

शहर में अवैध बिल्डिग निर्माण की शिकायतें आ रही हैं। निगम ने उनके ध्यान में मामला लाया है, इसके आधार पर कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं। अगर नियमों के विपरीत निर्माण होता है तो निगम अपनी कार्रवाई करेगा। लोगों से भी आग्रह है कि नियमानुसार ही निर्माण कार्य करें।

गुरप्रीत सिंह खैरा, डीसी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!