जागरण संवाददाता, पठानकोट: बाबा साहिब डाक्टर भीम राव आंबेडकर मिशन जिला पठानकोट ने मुख्यमंत्री पंजाब को एक मांगपत्र भेजा है। पत्र में आगामी वर्ष होने वाले विधान सभा चुनाव से पहले दलित व पिछड़े वर्ग की चिर लंबित समस्याओं का समाधान करने की मांग की गई है। मिशन की ज्वाइंट कमेटी के सदस्य मनोहर लाल व वीरेंद्र पाल सिंह ने कहा कि हर बार चुनाव में दलित व पिछड़े वर्ग के लोगों की समस्याओं का समाधान करने के बड़े-बड़े वादे राजनीतिक पार्टियां करती हैं। उन्होंने मांग की कि जिले में अनुसूचित जाति वित्त कार्पोरेशन कार्यालय खोला जाए, 85वें संविधान संशोधन को अमल में लाया जाए। पंजाब एससी कमीशन की सिफारिश अनुसार 10-10-2014 का दलित मुलाजिम विरोधी परसोनल विभाग का पत्र वापिस लिया जाए। सफाई कर्मियों की सुरक्षा का पक्का समाधान किया जाए। गांवों, शहरों, बस्तियों, स्कूलों व धर्मशाला के जाति आधारित नाम को बदला जाए। विधान सभा चुनाव से पहले खाली पड़ी सरकारी जगह पर डाक्टर भीम राव आंबेडकर की प्रतिमाओं को स्थापित करवाया जाए। योग्यता के आधार पर रोजगार मुहैया करवाए। प्री मैट्रिक, पोस्ट मैट्रिक स्कालरशिप स्कीम अधीन स्कूलों, कालेजों व प्रोफेशनल संस्थान व यूनिवसिटियों में दलित-पिछड़े वर्ग के विद्यार्थियों के दाखिले शुरु किए जाएं। स्कालरशिप घपलेबाजी को रोकने के लिए हर साल आडिट किया जाए। दलित अत्याचार रोको कानून 1989 को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए पुलिस प्रशासन को सख्त निर्देश जारी किए जाएं आदि।

इस मौके पर बिशन दास, वीरेंद्र पाल सिंह, बलदेव राज, शिवदयाल, नंद लाल, सोम लाल, लक्ष्मण सिंह, तरसेम लाल, सुभाष चंद्र, जुगल आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran