संवाद सहयोगी, जुगियाल : उत्तर भारत में पड़ रही कड़ाके की ठंड का भी श्रद्धालुओं की आस्था पर कोई फर्क नहीं पड़ा। वीरवार को मकर संक्रांति वाले दिन भी मंदिर में यहां भारी ठंड के बावजूद भी श्रद्धालु ऐतिहासिक धार्मिक स्थल मुक्तेश्वर धाम में माथा टेका। मंदिर में पंजाब के विभिन्न हिस्सों के अलावा साथ लगते प्रदेश जेएंडके व हिमाचल प्रदेश से भी भारी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। मुक्तेश्वर धाम मंदिर 5500 साल पुराना है। यहां पांडवों ने अपने अज्ञातवास का एक वर्ष बिताया था। श्रद्धालुओं ने मंदिर में माथा टेका व विश्व की मंगल कामना के लिए दुआ की। मंदिर कमेटी की ओर से लोगों के लिए चाय-पान का विशेष प्रबंध किया हुआ था। लोगों ने रावी दरिया के ठंडे पानी में डुबकी लगाई व विश्व की मंगल कामना के लिए दुआ की। माथा टेकने आए श्रद्धालुओं कमल कृष्ण, जोगिद्र पाल, भीम सिंह, अंकुश ने कहा कि भले जितनी मर्जी ठंड हो जाए उसका आस्था पर कोई असर नहीं पड़ेगा। हर वर्ष शिवरात्रि पर भी देश के विभिन्न राज्यों से श्रद्धालु यहां माथा टेकने के लिए आते हैं।

--------

मकर संक्रांति पर लगाया लंगर

संवाद सहयोगी, बमियाल : मकर संक्रांति पर पुलिस थाना नरोट जैमल सिंह ने लंगर लगाया गया। राहगीरों से श्रद्धा से ग्रहण किया। इस दौरान मकर संक्रांति पर सभी को बधाई भी दी। स्थानीय युवाओं ने लंगर में हिस्सा लेकर राहगीरों को प्रसाद बांटा।

--------

मकर संक्रांति पर गोशाला में की सेवा

संवाद सहयोगी, सुजानपुर : नीडी पीपल हेल्प ग्रुप के सदस्यों व पदाधिकारियों ने मकर संक्रांति पर कपिला चैरिटेबल गोशाला में चारे व कारसेवा की। उसके बाद टेंपो स्टैंड पर कड़ाह प्रसाद वितरित किया गया। इस अवसर पर अध्यक्ष सुधीर महाजन, चेयरमैन निकेत महाजन, उपाध्यक्ष गौरव महाजन, मुकेश अबरोल, एकान्त महाजन, उपसचिव आरुष शर्मा, दीपक महाजन तथा तरुण उपस्थित थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021