भीष्म भनोट, पठानकोट : सुरक्षा एजेंसियों की इनपुट के बाद पठानकोट हाई अलर्ट पर चल रहा है। हाई अलर्ट के चलते जहां जिला पुलिस जिला के विभिन्न ग्रामीण व शहर के मोहल्लों में जाकर चप्पा चप्पा तलाश रही है। वहीं दूसरी तरफ इमरजेंसी के चलते जिला प्रशासन की तरफ से सिविल अस्पताल को भी अलर्ट पर रखा गया है। अलर्ट के चलते सिविल अस्पताल प्रशासन ने इमरजेंसी वार्ड सहित अन्य वार्ड में करीब 20 बेड को रिजर्व रखा हुआ है। अलर्ट और इमरजेंसी के चलते सिविल अस्पताल के ब्लड बैंक में खून की कमी पूरी करने के लिए टांडा मेडिकल कॉलेज से 105 यूनिट ब्लड भी मंगवाया गया है लेकिन यहां बताने योग्य है कि अस्पताल के ब्लड बैंक में 221 यूनिट ब्लड होने के बावजूद ए पॉजीटिव व एबी नेगेटिव ब्लड का एक भी यूनिट नहीं है ऐसे में इमरजेंसी होने पर घायल व्यक्ति की जान पर बन सकती है। नियमों के तहत ब्लड बैंक में सभी ग्रुप के पांच प्रतिशत ब्लड यूनिट होना अनिवार्य है। वहीं दूसरी तरफ अस्पताल प्रशासन का कहना है कि अस्पताल में ब्लड पर्याप्त मात्रा में है जरूरत पड़ने पर डोनर्स से संपर्क कर ब्लड प्रोवाइड करवाया जाता है। ब्लड डोनर्स की मदद से कमी की पूरी

सिविल अस्पताल के ब्लड बैंक में बी पॉजीटिव ब्लड की भारी कमी पाई जा रही थी। बी पॉजीटिव ब्लड की डिमांड हमेशा सबसे अधिक रहती है ऐसे में ब्लड बैंक की तरफ से ब्लड डोनर्स की मदद से ब्लड बैंक में बी पॉजीटिव ब्लड की कमी को पूरा किया गया है।

इमरजेंसी पड़ने पर डोनर्स ऑन कॉल देते है ब्लड

उधर, सिविल अस्पताल के एसएमओ डॉ. भूपिद्र सिंह का कहना है कि अस्पताल में पर्याप्त मात्रा में ब्लड है। इमरजेंसी पड़ने पर ब्लड बैंक स्टाफ के पास ब्लड डोनर्स के मोबाइल नंबर है जो ऑन कॉल मरीज को ब्लड देने के लिए पहुंच जाते हैं। उन्होंने कहा कि 16 अक्टूबर को अस्पताल में ब्लड डोनेशन कैंप लगाया जा रहा है इसके बाद ब्लड की कमी दूर हो जाएगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!