जागरण संवाददाता, पठानकोट : डेंगू के केस रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। अब हर रोज 30 से ज्यादा केस आ रहे हैं। शनिवार को 33 नए डेंगू मरीज मिले हैं। इसको देखते हुए सेहत विभाग अपने स्तर पर जागरूकता मुहिम को और तेज करने पर विचार कर रही है। साथ ही जिन एरिया में कोरोना के पांच से ज्यादा केस आ रहे है उसमें सुबह और शाम फागिग करने को कहा जा रहा है। शहरी इलाकों में ज्यादा से ज्यादा ध्यान देने के लिए कहा गया है।

डेंगू के केस हर रोज नए आंकड़े को पार कर रहा है। अब तक 290 केस आ चुके हैं। यह 2017 के बाद सबसे ज्यादा है। इसको लेकर विभाग भी चितित है। जिला एपिडेमोलाजिस्ट डा. साक्षी का कहना है कि डेंगू के बढ़ रहे केस की जानकारी निगम और प्रशासन को दी जाती है। साथ ही इसमें सुझाव भी दिए जाते हैं। शहर में सफाई से लेकर चालान काटने की जिम्मेदारी निगम की ही है। इसमें वे कुछ नहीं कर सकते। केवल उनकी ओर से सुझाव दिए जाते हैं। अमल करना उनका काम है। अब तक शहर के हर एरिया में डेंगू के पांच से ज्यादा केस आ रहे हैं। इसके लिए लोगों को भी जागरूक होने की जरूरत है। शनिवार को 33 डेंगू पाजिटिव आए

सेहत विभाग के पास शनिवार शाम को आई रिपोर्ट के अनुसार कुल 62 लोगों की जांच की गई थी, जिसमें 33 लोग डेंगू पाजिटिव मिले हैं। शुक्रवार तक 257 डेंगू के केस थे। सितंबर में लगातर डेंगू पाजिटिव की संख्या बढ़ रही है। अक्टूबर तक डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ने का अनुमान है। डा. साक्षी ने बताया कि लोगों को जागरूक रहने की जरूरत है। डेंगू का खतरा बना रहता है ऐसी स्थिति में लापरवाही किया जाना उचित नहीं होगा इसके लिए जन जागरण जागरूकता जरूरी है। डेंगू बच्चों के लिए उतना ही खतरनाक है, जितना बड़ों के लिए हैं। डेंगू वायरस के संक्रमण से होता है, जो मादा एडीज मच्छर के काटने से फैलता है। डेंगू एक जानलेवा बीमारी की तरह अपने पांव पसार रहा है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा लोगों को जागरूक किया जा रहा है। जिसका मुख्य उद्देश्य लोगों को डेंगू के प्रति जागरूक करना और उसके रोकथाम एवं बचाव के तरीकों के बारे में बताना है। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस बीमारी से बचाया जा सकें। जागरूकता मुहिम के साथ पंफलेट भी बांटे जाएंगे

डा. साक्षी ने बताया कि लोगों को जागरूक करने के लिए रैली निकाली जा रही है। इसके साथ ही बच्चों व लोगों को भी जागरूक किया जा रहा है। अब विभाग की ओर से पंफलेट बांटे जाएंगे। लोगों को पंफलेट के माध्यम से बचाव व सावधानी के बारे में जानकारी दी जाएगी।

वहीं, निगम के मेडिकल अधिकारी डा. एनके सिंह ने बताया कि हम नियमित रूप से फागिंग कर रहे हैं। जहां पर डेंगू के ज्यादा मरीज आ रहे हैं। वहां पर हम सुबह-शाम फागिंग करवा रहे हैं। सफाई के लिए विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

इधर, सिविल के बाहर सीवरेज की समस्या से लोग परेशान

सिविल अस्पताल के बाहर सीवरेज की लीकेज के कारण लोग परेशान हो रहे हैं। लोगों का कहना है कि सड़क के बीचो बीच सीवरेज की लीकेज के कारण बदबू का आलम है। एक तो पहले से ही पूरे शहर में डेंगू के कारण दहशत फैली हुई है। दूसरी तरफ प्रशासन का गंदगी की ओर ध्यान नहीं है। वहीं दुकानदारों ने कहा कि हर दूसरे दिन यहां पर सीवरेज ओवरफ्लो हो जाता है। निगम की ओर से इसका स्थायी हल नहीं किया जा रहा है। यह सीवरेज काफी लंबे समय से ब्लाक है जो कि सड़क को तोड़कर ही ठीक किया जा सकता है। उसके लिए नई पाइप लाइन बिछाई जाने की प्रशासन से मांग है कि ताकि समस्या का पक्का हल हो सके।

Edited By: Jagran