जासं, नवांशहर : अवैध ट्रैवल एजेंट ने बंगा निवासी मजदूर महिला के बेटे को अपना शिकार बनाया। दुबई की नकली टिकट व वीजा दिखाकर महिला से ढाई लाख रुपये ऐंठ लिए। थाना नवांशहर की पुलिस ने करीब डेढ़ साल की लंबी जांच के बाद ट्रैवल एजेंट के खिलाफ शुक्रवार को धोखाधड़ी व इमीग्रेशन एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

अवैध ट्रैवल एजेंट की शिकार बनी महमूदपुर निवासी कुलविदर कौर ने बताया है कि वह मजदूरी करके अपना घर चला रही है। बेटे के भविष्य को संवारने व घर के हालातों को ठीक करने के लिए बेटे को विदेश भेजना चाहती थी। इस सपने को लेकर वह अक्तूबर 2017 में चंडीगढ़ रोड पर केसी कांप्लेक्स में स्थित बलबीर कुमार व गुरदीप सिंह के कार्यालय में पहुंची। दोनों ने उसे भरोसा दिया कि उनका दुबई में अच्छा जुगाड़ है वह उसके बेटे को वहां काम लगवा देंगे। इसके एवज में एजेंट बलबीर कुमार ने उससे 2.50 लाख रुपये मांगे। कुछ दिनों के बाद महिला ने लोगों से ब्याज पर लेकर पैसे इकट्ठे करके एजेंट को दे दिए। रुपये लेने के बाद एजेंट ने पक्की रसीद भी महिला को सौंपी जिससे उसे लगा कि उसके साथ धोखा नहीं हो सकता। कुछ दिनों के बाद एजेंट ने उन्हें बुलाकर नकली वीजा व दुबई की टिकट दिखाई और जल्द वहां सेटिंग करके युवक को भेजने की बात कही। दो महीने के इंतजार के बाद एजेंटों से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि वह उसे विदेश नहीं भेज सकते। उन्होंने महिला को रुपये व पासपोर्ट वापस देने से भी इनकार कर दिया। महिला ने पैसे पाने के लिए कई महीने प्रयास किया। इसके बाद अप्रैल 2018 में उसने पुलिस को शिकायत दी। डेढ़ साल की जांच के बाद मामला हुआ दर्ज

शिकायत मिलने पर मामले की जांच आर्थिक अपराध शाखा के इंस्पेक्टर सतनाम सिंह ने की। उन्होंने जांच में पाया कि आरोपित बलबीर कुमार ने मजदूर महिला के साथ ठगी की है। इसके बाद बलबीर कुमार के खिलाफ धोखाधड़ी, इमीग्रेशन एक्ट व पंजाब ट्रैवल प्रोफेशनल एक्ट के तहत मामला दर्ज करने की सिफारिश की। थाना नवांशहर सिटी की पुलिस ने शुक्रवार को मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। अब तक पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार नही किया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!