जागरण टीम नवांशहर,काठगढ़: जनवरी शुरू होते ही ठंड के कारण पारे में लगातार गिरावट देखी जा रही है। तापमान लगातार गिरने से हवा भी ठंडी हो रही है। शीतलहर से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। कामकाजी लोगों का बुरा हाल हो रहा है। सोमवार को पूरे दिनभर सर्द हवाएं चलती रहीं। दिन के साथ ही रात के तापमान में आयी गिरावट व सर्द हवा के प्रकोप के बीच लोग घरों में ही दुबकने को मजबूर हैं। बाजारों में भी चहल पहल थम गई है। सड़कों पर भी रोज की तरह वाहनों की संख्या में काफी कमी नजर आ रही है। बीते छह दिनों से धूप नहीं निकली है। रात और सुबह के समय कोहरे की चादर छाने से लगातार ठंड बढ़ती जा रही है। आने वाले 24 घंटे में प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में कड़ाके की ठंड का दौर जारी रहेगा। प्रदेश के कुछ हिस्सों में कोहरा गिरने की भी संभावना बनी हुई है। एक तो कोरोना संक्रमण दूसरी तरह कड़ाके की ठंड, इस वजह से लोग घरों से बाहर निकलना मुनासिब नहीं समझ रहे हैं। ठंड में बेहद जरूरी काम होने पर ही बाहर निकल रहे हैं। अत्याधिक ठंड से बचाव के लिए लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं। कृषि केंद्र लंगड़ोया के डायरेक्टर मनोज शर्मा ने कहा कि गेहूं की फसल की वृद्धि की दृष्टि से यह ठंड बड़े काम की है। जितनी अधिक ठंड होगी और लंबे समय तक चलेगी, उतना ही उत्पादन अच्छा हो सकता है। ठंड में स्किन का भी ध्यान रखना जरूरी एसएमओ डा.मनदीप कमल ने कहा कि ठंड अभी और बढ़ेगी। इसलिए ठंड से बचाव करना बेहद जरूरी है। ठंड में के मौसम में अपनी स्किन की ड्राइनेस दूर करने के लिए आप माइश्चराइजर का इस्तेमाल जरूर करें। स्किन पर नरिशिग आयल जैसे, बादाम, आर्गन, नारियल या सूरजमुखी के तेल से मसाज करें।

डाइट में विटामिन सी को शामिल करें

विटामिन सी से भरपूर फलों और सब्जियों को डाइट में शामिल करें। संतरा, अमरूद, अनानास,पपीता और कीवी को डाइट में शामिल करें। यह फल बाडी में विटामिन सी की कमी को पूरा करेंगे, साथ ही स्किन का भी ध्यान रखेंगे। इसके अलावा सर्दी में गर्म चीजाों का सेवन करें। गर्म पानी, चाय, दालचीनी का पानी, गर्म सूप और तुलसी के काढ़े का सेवन करें। हीटर का उपयोग करते समय घर में वेंटिलेशन का ध्यान रखें।

Edited By: Jagran