सुप्रभात। हमें सभी धर्मों का आदर व सम्मान करना चाहिए। वेदों व ग्रंथों में भी हमें यही सिखाया जाता है कि सबसे बड़ा धर्म है। अपने स्वभाव के प्रति सच्चे होकर स्वयं पर विश्वास करना चाहिए। क्योंकि हर क्षेत्र में कामयाबी के लिए कोई न कोई मूल मंत्र होना जरुरी है। जितना हो सके जरूरतमंद की मदद करनी चाहिए। बाल कृष्ण थापर, प्रधान, विश्व ¨हदू परिषद।

Posted By: Jagran