सुशील पांडे, नवांशहर

जिले में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। मगर, इस बारे में पुलिस प्रशासन गंभीर नहीं है। बता दें कि सोमवार को नवांशहर के गांव भंगल कलां, खोथड़ा व करियाम को माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। इसके तहत गांव में आने-जाने वालों चेक किया जाना था। इसके लिए जिले के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की तरफ से पुलिस अधिकारियों को उक्त गांवों में नाका लगाने के लिए लिखा भी गया था। मगर, मंगलवार को इस बारे में जब करियाम गांव का दौरा किया गया, तो वहां पर पुलिस का नाका लगा नहीं दिखा। कार्रवाई के नाम पर सिर्फ सड़क पर पुलिस द्वारा एक खंभे से रस्सी बांधी गई थी और उसके बाद से वहां कोई भी मौके पर नहीं था। यही हाल अन्य दो जगहों का भी है।

बता दें कि जिले में गत 17 दिनों में 951 कोरोना के मरीज आ चुके हैं। मंगलवार को भी जिले में 103 केस पाजिटिव आए हैं और तीन लोगों की मौत हुई है। मृतकों में ब्लाक मुज्जफरपुर की रहने वाली 73 वर्षीय महिला की जालंधर के एक निजी अस्पताल में मौत हुई है। ब्लाक मुज्जफरपुर की ही रहने वाली 60 वर्षीय महिला की नवांशहर के एक निजी अस्पताल में मौत हुई। उसे निमोनिया भी हो गया था। वहीं ब्लाक बलाचौर की रहने वाली 60 वर्षीय महिला की मौत पटियाला के राजिदरा अस्पताल में हुई है। उसे शूगर व किडनी की बीमारी थी। इसके साथ ही जिले में अब तक 107 लोगों की कोरोना के कारण मौत हो चुकी है।

इस बारे में सिविल सर्जन डा.जीके कपूर ने बताया कि जिले में सक्रिय केसों की संख्या अब 599 है। वहीं अभी तक जिले में 3705 संक्रमितों में से 3003 लोग ठीक हो चुके हैं। सेहत विभाग द्वारा अभी तक 1,25,038 लोगों के कोरोना सैंपल लिए जा चुके हैं।

---------------

3383 कर्मियों को लग चुका है टीका

जिले में कोरोना वैक्सीन की 5300 डोज आई हैं। इनमें से 4370 स्वास्थ्य कर्मियों को पहले वैक्सीन लगाई जानी थी। अब विभाग की ओर से स्वास्थ्य कर्मियों के साथ पुलिस कर्मियों को भी वैक्सीन लगाई जाने लगी है। अभी तक जिले में 2533 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जा चुका है। इसके अलावा 850 फ्रंट लाइन वर्करों को भी टीका लगाया जा चुका है।

----------------

नाकेबंदी कर पुलिस की ड्यूटी यकीनी बनाने के निर्देश

एसडीएम जगदीश सिंह जौहल का कहना है कि पुलिस अधिकारियों से बातचीत की जाएगी कि माइक्रो कंटेनमेंट जोन में नाकेबंदी की जाए और पुलिस कर्मियों की ड्यूटी वहां लगाना यकीनी बनाया जाए। उन्होंने कहा कि डीसी की ओर से इस बारे में पुलिस अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं।

---------------

पुलिस की ड्यूटी लगाएं

सिविल सर्जन डा. जीके कपूर ने कहा है कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से पुलिस अधिकारियों को पत्र लिख कर नाम सहित बताया गया है कि तीन जगहों को माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है। वहां पर पुलिस की डयूटी लगाई जाए।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप