संवाद सहयोगी, बंगा

गांव भरोमजारा में छप्पड़ लबालब भरा होने के कारण गांव की नालियों में गंदा पानी जमा होने लगा है। इससे जहां दुर्गध व्याप्त है, वहीं इससे बीमारियां होने का भी डर है।

बता दें कि मोहल्ला बेगमपुरा भरोमजारा में दो एकड़ में फैले छप्पड़ की सफाई न होने के कारण इसमें घास बूटी है और ये गंदगी से भी भरा हुआ है। इसके कारण इसमें गांव का जो गंदा पानी जाता था, वह जाना बंद हो गया है और ये पानी अब गलियों में जमा होने लगा है। वहीं इस गंदे पानी के कारण मच्छर व कीड़े पनपने से बीमारियां होने का डर लोगों को ज्यादा है। लोगों का कहना है कि अब गर्मियां शुरू हो गई हैं और ऐसे में बीमारियां होने की ज्यादा संभावना है।

इस बारे में ग्रामीणों की मांग है कि उक्त छप्पड़ को पंचायत इस पानी को यहां से कही और तब्दील कर इसे खाली करवाए तथा इसकी सफाई करवाए, ताकि किसी भी तरह की बीमारी होने से बचा जा सके।

उधर, उक्त छप्पड़ के नजदीक रहने वाले सोढ़ी राम का कहना है कि इसे पहले भी दो बार लोगों की आर्थिक मदद से खाली करवाया था, ताकि इसे और गहरा किया जा सके। मगर, सरपंच ने ऐसा नहीं करवाया। उन्होंने मांग की कि इस गंदे पानी को नहर के पास पड़ी ग्राम पंचायत की जमीन में शिफ्ट किया जाए और यहां पर बच्चों के लिए खेल मैदान बनवाया जाए।

उधर, गांव के ही सतनाम का कहना है कि गांव में यह गंदे पानी की समस्या काफी समय से चल रही है। इस बारे में बंगा के विधायक डा. सुखविदर कुमार सुक्खी को भी बताया था, परंतु कोई हल नहीं हुआ।

--------------

सरकार गंदे पानी की निकासी के लिए ग्रांट जारी करे : सरपंच

सरपंच राम सिंह का कहना है कि सफाई के लिए सफाई कर्मचारी रखा हुआ है। उसे सरकार की ओर से भी पैसे मिलते थे और गांव के लोग भी हर महीने पैसे देते थे। मगर, वह अब काम नहीं कर रहा है। जल्द ही कोई और प्रबंध किया जा रहा है। उन्होंने भी सरकार से मांग की है गंदे पानी की निकासी के लिए ग्रांट जारी की जाए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप