मुकंद हरी जुल्का, नवांशहर : सरकार का एक जुलाई से सिगल यूज प्लास्टिक के बैन को लेकर पहले दिन बाजारों में खासा असर नहीं दिखा। रोजाना की तरह लोग व दुकानदार प्लास्टिक के लिफाफों में सामान की बिक्री करते नजर आए। हालांकि जिला प्रशासन की ओर से बीते तीन-चार दिनों से लगातार शहर में इसे सख्ती से लागू करने को लेकर प्रयास किए जा रहे हैं। रेहड़ी वालों और दुकानदारों को सख्त हिदायत दी गई है कि सोमवार तक सभी अपने सामान का स्टाक निपटा लें, इसके बाद सख्त कार्रवाई होगी। इसके बाद दुकान में रखा सिगल यूज प्लास्टिक का सारा सामान जब्त होगा। वहीं जुर्माना भी किया जाएगा। मगर अभी इसको लेकर रेहड़ी वालों और कुछ दुकानदारों द्वारा अपनी दुकानों पर इसका उपयोग हो रहा है। सब्जी और फलों की रेहड़ी लगाने वालों अभी सरकार के इन आदेशों को लेकर गंभीर नजर नहीं आ रहे।

इसके अलावा, शहर में फास्ट फूड की रेहड़ियों पर डिस्पोजेबल कप, प्लेट, गिलास का इस्तेमाल भी हो रहा है। शहर वासियों और गांवों से आएं हुए लोगों के हाथों में पालिथीन बैग भी दिखाई दिए। शहर की सब्जी मंडी में लोगों के हाथों में पॉलिथीन बैग दिखाई दिए। पूछने पर पालिथीन का होल सेल का काम करने वाले दुकानदारों द्वारा कहा गया कि शनिवार व रविवार को छुट्टी है। कोई भी चेकिग नहीं हो रही। इसलिए हम बेच रहे हैं। शुक्रवार को हुए 24 लोगों के चालान

नगर कौंसिल की सेनेटरी इंस्पेक्टर दीप माला का कहना है कि सरकार और एडीसी राजीव वर्मा की हिदायत के अनुसार शुक्रवार को शहर के गीता भवन रोड, रेलवे रोड तथा नगर कौंसिल के बाहर वाली मार्केट में हमने 24 लोगों के चालान किए हैं। इसका कुल मूल्य 2400 बनता है। उन्होंने कहा कि आगे भी यह कार्रवाई सख्ती से जारी रहेगी। सोमवार से होगी सख्त कार्रवाई

एडीसी राजीव वर्मा ने कहा कि पहली जुलाई से सरकार की ओर से सिगल यूज प्लास्टिक की 19 वस्तुओं को बैन किया गया है। पहले दिन हमने शहर के कुछ हिस्सों में चेकिग की है। शुक्रवार को नगर कौंसिल को इस संबंध में कार्रवाई करने के लिए कहा गया और चालान भी किए गए। कुछ दुकानदारों और रेहड़ी वालों को चेतावनी भी दी गई। सोमवार को सख्ती के साथ इसका उपयोग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

Edited By: Jagran