संवाद सहयोगी, श्री मुक्तसर साहिब : सेहत विभाग की तरफ से विश्व शुगर दिवस को लेकर दफ्तर सिविल सर्जन में जिला स्तरीय समागम किया गया जिसमें सिविल सर्जन नवदीप सिंह ने कहा की शुगर की बीमारी के मुख्य कारण कसरत न करना, कसरत कम करना, मोटापा, गैर सेहतमंद आहार लेना। इस बीमारी से बचने के लिए हमें हर रोज कम से कम एक घंटा कसरत करनी चाहिए तथा शारीरिक कार्य ज्यादा करने चाहिए। इस बीमारी से बचने के लिए हमें हरी सब्जियां तथा फलों का इस्तेमाल ज्यादा करनी चाहिए तथा चर्बी वाले भोजन कम लेने चाहिए। दिमागी परेशानी से बचकर तथा आदर्श शारीरिक वजन कायम रखकर इस बीमारी से बचा जा सकता है। डॉ. रंजू सिगला ने बताया कि बार-बार पेशाब का आना, अचानक वजन का कम होना, थकावट रहना, घाव की जल्दी ठीक न होना शुगर की बीमारी हो सकती है। इस बीमारी को अनदेखा न करें इससे आंखों की रोशनी जा सकती है, हाथ पैर सुन होना, गुर्दे फेल होना हार्ट अटैक का भी खतरा रहता है। डॉ. सिंगला ने बताया कि सरकारी अस्पतालों में शुगर की जांच तथा इलाज मुफ्त में उपलब्ध है। इस अवसर पर डॉ. कंवरजीत सिंह, डॉ. अंकिता, गुरतेज सिंह, सुखमंदर सिंह, भगवानदास, दीपक कुमार, शिवपाल सिंह, गगनदीप कौर आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!