मुक्‍तसर साहिब, जेएनएन। यहां माघी मेला में शिरोमणि अकाली दल की रैली में पार्टी प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने असंतुष्‍ट नेता सुखदेव सिंह ढींडसा और उनके बेटे परमिंदर सिंह ढींडसा पर ताबड़तोड़ निशाने साधे। सुखबीर ने कहा कि ये लोग पार्टी से सबकुछ हासिल करने के बाद उसकी पीठ में छुरा भोंक हैं। सुखदेव सिंह ढींढसा केवल एक चुनाव जीते, फिर भी पार्टी ने उनको सबकुछ दिया, लेकिन आज इनकी भाषा बदल गई अै। रैली में नेताओं ने कांग्रेस और कैप्‍टन अमरिंदर सिंह सरकार पर भी जमकर निशाने साधे।

शिअद के प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि पहले गुरु धामों पर महंतों का कब्जा था। 1920 में शिरोमणि अकाली दल बना। अकाली दल देश की दूसरी सबसे पुरानी पार्टी है। कई लोग बोलते हैं कि एसजीपीसी को बादल परिवार से मुक्त करना है। एक्ट के तहत और सरकार की निगरानी में एसजीपीसी के चुनाव होते हैं। 100 साल से हर पांच साल बाद चुनाव हो रहे हैं, फिर बादल परिवार पर आरोप लगाने का क्‍या मतलब है।

सुखबीर ने कहा, हमें किसी से सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है। लोगों को शिअद पर यकीन है। शिअद कोई बादल परिवार की जायदाद नहीं है। मुझसे पहले भी बहुत प्रधान हुए हैं और बाद भी होंगे। कई लोगों ने सब कुछ खा कर पार्टी की पीठ पर छुरा मारा है। बादल परिवार डिक्टेटर नहीं है। बादल परिवार ने वर्कर बन कर पार्टी की सेवा की है। सरपंच से लेकर सीएम बने हैं। प्रकाश सिंह बादल ने सबसे आगे होकर जंग लड़ी है।

सुखबीर ने असंतुष्‍ट नेता सुखदेव सिंह ढींढसा की चर्चा की। उन्‍होंने कहा, मेरे बुजुर्ग ढींढसा साहिब की गोद में खेला हूं। 35 साल हो गए मुझे, इस दौरान उनको (ढींढसा को) किसी भी काम के लिए मना नहीं किया। अगर आप लोगों के दुख-सुख में नहीं जाते हैं तो लोग वोट नहीं देते हैं। सुखबीर ने कहा, 'मैं कुछ कहना नहीं चाहता था, लेकिन अब बोलना पड़ रहा है। मेरे पिता ने कभी उनको (ढींढसा का) किसी बात के लिए मना नहीं किया। ढींडसा 30 साल से चुनाव लड़ रहे हैं, ले‍किन सिर्फ एक बार जीते हैं। लेकिन, बड़े बादल ने उनको महसूस नहीं होने दिया और उनको चेयरमैन बनाते थे। तीन लाख वोट से हारे तो उनको राज्य सभा सदस्य बनाया। उस समय तो बादल परिवार ठीक था और अब भाषा बदल गइर् है। बादल साहब आज तक एक बार भी चुनाव नहीं हारे। पांच बार सीएम बने हैं।

सुखबीर बोले, उनका (ढींढसा का) हल्का हर बार बदलना पड़ता था। बदल देते थे, तब सुखबीर ठीक था। उनके दामाद को मोहाली से टिकट दिया, लेकिन वह भी चुनाव हार गए। सुखबीर ने कहा, उनका निशाना एक है कि शिअद को जीतने नहीं देना, लेकिन जीत और हार परमात्मा के हाथ में है। जो जनता की सेवा करेगा, उसे कोई हरा नहीं सकता। बादल साहब हर घर में गए हैं। सेवा सिंह सेखवां 30 साल में एक चुनाव जीते हैं, लेकिन हम उनको टिकट देते रहे।

उन्होंने कहा कि 13 साल पहले बिजली नहीं थी। हमने कहा था कि बिजली आम कर देंगे और कर दी। पिछले तीन साल में बिजली विभाग को तबाह कर दिया गया है। हमने हर ढाणी तक बिजली पहुंचा दी। हमारे समय बिजली की दर साढ़े पांच रुपये प्रति यूनिट थी और यह आज साढ़े सात रुपये कर दी गई है।  हम सब्सिडी की पेमेंट बिजली विभाग को देते थे लेकिन कांग्रेस नहीं दे रही। अब नया फैसला किया है कि भले ही एक माह में बिजली इस्‍तेमाल करें,लेकिन मिनिमम चार्ज देने पड़ेंगे।

उन्‍हाेंने कहा कि कैप्टन की नीयत साफ नहीं। कैप्‍टन सरकार ने तीन साल में रेट बढ़ा कर 22000 करोड़ आम लोगों की जेबों से निकाल लिया। कैप्‍टन ने 10 लाख नौकरी देने का झूठा इश्तहार दे दिया। युवाओं को मोबाइल देने का झूठा वादा किया। कैप्टन ने तो घोषणा की थी कि अंतिम बार चुनाव लड़ रहा हूं, लेकिन अब बदल रहे हैं। 

उन्‍होंने कहा कि घरों पर बैठे लोगों के खिलाफ झूठे केस दर्ज कर किए गए हैं। उन्‍होंने लोगों से कहा कि झूठे केस दर्ज करने वाले अफसरों के नाम दर्ज रखना। उन पर मामले दर्ज करके उनके ही थाने में बंद करेंगे। सरकार का खजाना कभी खाली नहीं होता। शिअद के समय भी खजाना खाली था, अब भी खाली है। ताज्‍जुब है कि तीन साल में एक रुपया खर्च नहीं किया,फिर भी खजाना खाली है।

मलूका बोले- जनता की छोटी गलती से पंजाब में आया पापियों का शासन

रैली मेें पूर्व मंत्री सिकंदर सिंह मलूका ने कहा कि पंजाब पर पापी पार्टी का राज आ गया। इस सरकार ने आज पंजाब का बुरा हाल कर दिया है। आपकी (जनता की) छोटी सी गलती के कारण पापियों का राज आ गया। शिअद-भाजपा सरकार पर कांग्रेस ने आरोप लगाए और आपने (जनता) उनको सच मान लिया।

मलूका ने कहा कि सीएम ने नशा खत्म करने की गुटका साहिब पर हाथ रख कर शपथ ली थी और जनता ने इसे सच मान कर वोट डाल दी। कांग्रेस ने जो कहा उससे उलट किया। 20 हज़ार लोगों का अखबार में इश्तिहार दे दें जिनको उन्होंने नोकरी दी हो। सरकार की गलत नीतियों के कारण युवा विदेश जा रहे हैं।

पूर्व मंत्री तोता सिंह ने कहा कि पंथ को तगड़ा करना है तो अकाली दल को तगड़ा करना होगा।  उन्होंने अकाली दल की ओर से किये गए विकास कार्यों को गिनाया। उन्‍होंने कहा कि हमारे लिए पहले धर्म है,राजनीति बाद में है। शिअद नेता जगमीत सिंह बराड़ ने कहा कि कैप्टन ने शपथ खाई थी कि पंजाब को नशा मुक्त कर देंगे, लेकिन नशा आज भी बिक रहा है। कह रहे हैं कि चार लाख को नौकरी दी। मुझे एक तो दिखा दो,जिसको नौकरी दी।    भाजपा के पूर्व प्रधान राजिंदर भंडारी ने अपने भाषण के दौरान कहा कि कैप्टन ने चुनाव से पहले जो वादे किए,उनमें से एक को भी पूरा नहीं किया।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!