जागरण संवाददाता, श्री मुक्तसर साहिब

पेट्रोल व डीजल की कीमतों में भारी वृद्धि, रुपये में गिरावट व बढ़ती महंगाई पर कांग्रेस के बंद के अह्वान को लेकर खुद कांग्रेसी ही असफल बनाते नजर आए। मुक्तसर में सुबह ही रोजमर्रा की तरह बाजार खुल गए। किसी भी कांग्रेसी ने दोपहर तक बाजारों में जाकर अपील कर दुकानें बंद करने का आह्वान तो क्या करना था, खुद ही सुबह दुकानें खोलकर बैठ गए। इस कारण मुक्तसर में बंद को बिल्कुल भी समर्थन नहीं मिला।

सुबह आम दिनों की तरह दुकानें खुल गईं और दिन भर सभी बाजार खुले रहे। जबकि मलोट में बाद दोपहर कांग्रेसियों ने बाजारों में जाकर दुकानें बंद करवाईं। मगर जैसे-जैसे कांग्रेसी दुकानें बंद करवा आगे बढते गए। पीछे से दुकानों के शटर फिर खुलते रहे। कुल मिलाकर बंद पूरी तरफ से विफल रहा। मलोट में कांग्रेसियों ने बाद दोपहर डिप्टी स्पीकर अजायब ¨सह भट्टी के पुत्र अमनप्रीत ¨सह भट्टी के नेतृत्व में बाजारों में जाकर दुकानें बंद करने की अपील की। एकबारगी तो दुकानदारों ने दुकानें बंद कर दीं मगर कांग्रेसियों के आगे बढ़ते ही दुकानें फिर से खुल गईं।

मुक्तसर में बाजार खुले रहे और अधिकतर दुकानदारों को तो यह भी पता नहीं था कि आज बंद का आह्वान है। वह तो दुकानों पर बैठे अपने काम में व्यस्त थे। शहर के एक कांग्रेसी नेता का कहना था कि पार्टी के बंद से क्या होता है। प्रभावित तो आम लोग ही होते हैं। बंद करने से क्या होगा, गरीब वर्ग का नुकसान करने में क्या लाभ है।

इस मौके पर इकबाल संगूधौन, मुकेश बरीवाला, म¨नदर ¨सह विक्की, खड़क ¨सह सरपंच, सरबदमन ¨सह खोखर, दिलबाग गिल, गुरजेपाल बराड़, रोबी बराड़, बोहड़ ¨सह, गुरजंट ¨सह, विरसा ¨सह, बलराज तामकोट, सोनू नागपाल, पारस लूना आदि मौजूद थे। इनसेट

फत्तनवाला मे तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव व मार्केट कमेटी के पूर्व चेयरमैन जगजीत ¨सह बराड़ हनी फत्तनवाला ने बढ़ रही महंगाई के खिलाफ केंद्र सरकार के नाम तहसीलदार विपन कुमार को ज्ञापन सौंपा। हनी फत्तनवाला ने कहा कि भारत सरकार द्वारा प्रतिदिन पेट्रोल व डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की जा रही है व रुपये की कीमत डॉलर के मुकाबले बहुत निचले स्तर पर जा चुकी है। केंद्र सरकार की जन विरोधी नीतियों ने आम जनता की कमर तोड़ रखी है व साधारण लोगों को प्रतिदिन खाने पीने की जरूरी वस्तुएं खरीदनी मुश्किल हो चुकी है। हनी फत्तनवाला ने बढ़ रही महंगाई को जल्द से जल्द नकेल डालने की मांग की।

Posted By: Jagran