संवाद सहयोगी, श्री मुक्तसर साहिब

पंजाब यूनिवर्सिटी के अधीन चलने वाले रीजनल सेंटर की खस्ता हाल इमारत को लेकर वीरवार को सेंटर के विद्यार्थियों ने वाइस चांसलर के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए वाइंस चांसलर का पुतला फूंका। इस दौरान ही उन्होंने जमकर नारेबाजी भी की। विद्यार्थी नेता धीरज कुमार, पूर्वनीत ¨सह, जगदीप ¨सह ने बताया कि रीजनल सेंटर की इमारत करीब 50 वर्ष पुरानी है जोकि अब खस्ता हो चुकी है। जोकि किसी भी समय गिर सकती है। यह इमारत दो मंजली है। जिसकी उपरी मंजिल के कुछ कमरे पहले ही गिर चुके हैं। जिस कारण अब क्लास नीचे के कमरों में लगाई जाती है। लेकिन यह भी इस कदर खस्ता है कि हर समय भय बना रहता है। उनके परिजनों को भी हर समय भय रहता है कि कहीं पढ़ाई के समय उनका बच्चा नीचे न आ जाए। विद्यार्थियों का कहना है कि खस्ता हाल इमारत के कारण ही बीते दिनों लाइब्रेरी भी उपर से नीचे शिफ्ट कर दी गई है। लेकिन विद्यार्थी पढ़ाई उपर की इमारत में बैठकर ही करते हैं। जिससे लगता है कि सेंटर वालों को विद्यार्थियों से अधिक पुस्तकों की ¨चता है। विद्यार्थियों ने आरोप लगाया कि सेंटर की इमारत के लिए जगह भी दी गई है। इसके लिए दो करोड़ रुपये की ग्रांट भी जारी हुई थी। लेकिन कोई हल नहीं किया गया। यह सब कुछ शिक्षा को फेल करने के लिए किया जा रहा है। इस सेंटर में पांच सौ के करीब विद्यार्थी पढ़ाई करते हैं। जोकि उच्च शिक्षा प्राप्त करते हैं और यह विद्यार्थी विभिन्न शहरों से आए हुए हैं। इसके अलावा सेंटर में प्रोफेसर की भी कमी है जिस कारण पढ़ाई का भी नुकसान होता है। उन्होंने नई इमारत बनाने व प्रोफेसर की कमी पूरी करने की मांग की।

इस मौके पर कर्मजीत, जस¨वदर, जसप्रीत कौर, अमनप्रीत कौर, गुरप्रीत कौर आदि मौजूद थे। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि जल्द ही उनकी मांगों का हल नहीं किया गया तो वह 23 अप्रैल को डीसी दफ्तर का घेराव करेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!