मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जेएनएन, श्री मुक्तसर साहिब। गांव लालबाई के एक किसान को हाथ से लिखा हुआ एक पत्र प्राप्त हुआ है जिसमें उससे खालिस्तान के नाम पर दो लाख रुपये की डिमांड की गई है। किसान इस संबंध में कुछ भी बताने से गुरेज कर रहा है, वहीं पुलिस भी खुलकर नहीं बोल रही है।

गांव लालबाई से चन्नू रोड पर एक किसान की ढाणी है। इसके पास करीब 20 एकड़ जमीन है। उसे बीते दिनों घर के बाहर पड़ा एक पत्र मिला है। जिस पर खालिस्तान बनाने के लिए उससे दो लाख रुपये की फिरौती मांगी गई है। पत्र में लिखा गया है कि वाहेगुरु की का खालसा, वाहेेगुरु जी की फतेह, प्यारे बहन, खालसा जी व काका जीसाडा किसे नाल कोई वैर विरोध नहीं है। साडी लड़ाई सरकारां नाल है। असीं चाहुंदे हां कि साडी मंग पूरी होवे ते खालिस्तान बने पर उसनू पूरा करण लई तुहाडे सहयोग दी जरूरत है ते काका जी सानू दोलख रुपये सहायता फंड देन की कृपालता करनी। ऐह फंड तुहाडे घर ते नेड़े बने जंड है उसकी मटी विच रख के अग्गे ईट्ट लगा देनी।

ऐह रक्म लाल कपड़े विच बन्न के ओत्थे रख देनी, 27 जुलाई 2019, शुक्रवार या शनिवार की रात नू नौ तोंं दस दे विचाले। साडे सिंघ आपे उस जगह तो लै जाणगे। कोई शिकायत करण तो पहलां सोच समझ के उसदा हरजाना आप नू भरना पैसकता है। इस लैटर दी किसे कोल कोई गल नहीं निकलनी चाहिदी। इसके नीचे खालिस्तान कमांडो फोर्स लिखा हुआ है।

उधर, किसान इस संबंध में कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है और वह काफी डरा हुआ है, जबकि एसएसपी मनजीत सिंह ढेसी का कहना है कि वह इस मामले की जांच कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि यह गंभीर मसला है, क्योंकि उस व्यक्ति को भी खतरा पैदा हो सकता है। हालांकि इससे पहले भी गिद्दड़बाहा में एक नशेड़ी व्यक्ति ने पत्र फेंककर फिरौती मांगी थी और मलोट मेें भी एक कारोबारी ने पत्र भेजकर फिरौती की मांग की थी। जिन्हें पुलिस ने काबू कर लिया था। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!