संवाद सूत्र, श्री मुक्तसर साहिब

जिला अकाली जत्थे के पूर्व अध्यक्ष मनजीत सिंह बरकंदी ने शनिवार को विधानसभा क्षेत्र श्री मुक्तसर साहिब से शिरोमणी अकाली दल व बसपा के संयुक्त उम्मीदवार कंवरजीत सिंह रोजी बरकंदी के लिए चुनाव प्रचार किया। इस दौरान उन्होने डोर टू डोर चुनाव प्रचार द्वारा शिरोमणी अकाली दल के कार्यकाल समय में करवाए विकास कार्यों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी व आप नेता बरसाती मेढ़क की तरह हैं जो कि सिर्फ वोट लेने के लिए ही लोगों को दिखाई देते हैं, जबकि शिरोमणी अकाली दल के वर्कर हमेशा आप लोगों के दुख सुख में शामिल होते हैं। क्षेत्र के विकास के लिए हमेशा सेवा में उपस्थित रहते हैं। इस लिए विकास को लकर आने वाली 20 फरवरी को चुनाव में आ पूरा सहयोग दें, ताकि क्षेत्र की नुहार बदली जा सके। इस मौके पर बाबा दलीप सिंह जिलाध्यक्ष एससी विग, बलराज सरपंच गुलाबेवाला, जसपाल सिंह ढिल्लों, हैरी बाठ, गुरप्रीत सिंह यूथ नेता, हैपी खप्पियांवाली, विपनजोत सिह, गोशा सिंह, जशन, वरिदर सिंह, जगजीत सिह, मनवीर आदि मौजूद रहे। शिअद में शामिल हुए लोग

विधानसभा चुनावों में सभी पार्टियां पूरे जोर-शोर के साथ चुनावी प्रचार में लग गई है ओर अपने हक में लगातार गांवों में नुक्कड़ बैठकें कर प्रचार कर रही हैं। अकाली दल के प्रत्याशी परमबंस सिंह बंटी रोमाना द्वारा भी लगातार अपने चुनाव प्रचार को पूरे जोर-शोर के साथ आगे बढ़ाया जा रहा है। शनिवार बंटी रोमाना द्वारा गांव गोलेवाला में चुनाव प्रचार के दौरान गुरनेब सिंह ढिल्लों परिवार को अकाली दल में शामिल किया उन्होंने बताया गुरनेब सिंह ढिल्लों सुखदीप सिंह ढिल्लों मनदीप सिंह ढिल्लों हुसन प्रीत सिंह ढिल्लों संदीप सिंह ढिल्लों अपने पूरे परिवार के साथ कांग्रेस पार्टी को छोड़कर अकाली दल में शामिल हुए।

कांग्रेस पार्टी के मौजूदा व भूतपूर्व मेंबर शिरोमणि अकाली दल में शामिल गांव घुद्दु वाला मे कई पंचायत मेंबर जिनमें शमिदर सिंह सदस्य, गुरप्रीत सिंह मेंबर, गुरप्रीत सिंह बराड़ मेंबर, बेयंत सिंह भूतपूर्व मेबर, गुरविदर सिंह ,अमरीक सिंह, प्रेमपाल सिंह, सुखदेव सिंह, शबदर सिंह, सुखनिंदर सिंह काकू, जशन बराड़, गांधी, जोबन सिंह ,जगतार सिंह फौजी ,जालंधर सिंह, प्रीतम सिंह खालसा, प्रीतम सिंह, गुरमीत सिंह, मनवीर सिंह नंबरदार, देवेंद्र सिंह, प्रदीप सिंह, विशाल सिंह ,गुरसेवक सिंह, सुरजीत सिंह, नाजर सिह अपने परिवारों सहित कांग्रेस पार्टी को छोड़कर शिरोमणि अकाली दल में शामिल हुए।

Edited By: Jagran