संवाद सहयोगी,मोगा

द लर्निंग फील्ड ए ग्लोबल स्कूल (टीएलएफ) में शनिवार सुबह की स्पेशल असेंबली के दौरान विद्यार्थियों को राष्ट्रीय भारतीय सेना दिवस की महत्ता की जानकारी दी गई।

असेंबली में विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए स्कूल प्रिसिपल सुनीता बाबू ने कहा कि राष्ट्रीय भारतीय सेना दिवस हर वर्ष 15 जनवरी को मनाया जाता है। फील्ड मार्शल केएम करियप्पा के सम्मान में प्रत्येक वर्ष सेना दिवस मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि भारत में पहला सेना दिवस 15 जनवरी 1949 को मनाया गया था। इस दिन भारतीय सेना की कमान एक भारतीय नागरिक के हाथ में आई थी। ब्रिटिश प्रमुख सर फ्रांसिस बुचर ने भारतीय सेवा कमांडर इन चीफ का पद लेफ्टिनेंट जनरल केएम करियप्पा को सौंपा था। इसके बाद से हर वर्ष 15 जनवरी को सेना दिवस मनाया जाने लगा। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना दिवस पर उन सभी बहादुर सेनानियों को सलामी दी जाती है जिन्होंने मातृभूमि की रक्षा और राष्ट्र की अखंडता को बनाए रखने के लिए अपना सब कुछ न्यौछावर कर दिया है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 में पहली बार हुआ पहली महिला आफिसर तानिया शेर गिल ने लीड किया था। इस मौके पर स्कूल के चेयरमैन इंजी. जनेश गर्ग व डायरेक्टर डा. मुस्कान गर्ग ने सभी स्टाफ व बच्चों को राष्ट्रीय भारतीय सेना दिवस की शुभकामनाएं देते हुए शहीद हुए जवानों के पदचिन्हों पर चलने को प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि स्कूल की ओर से इस प्रकार के दिवस मनाने का उद्देश्य बच्चों को जानकारी देकर उसकी महत्ता से जागरूक करवाना है। इस मौके पर स्कूल स्टाफ व विद्यार्थी उपस्थित थे।

Edited By: Jagran