सत्येन ओझा, मोगा : नगर निगम के प्रस्तावित चुनावों को लेकर भले ही अभी चुनाव की तिथि की घोषणा नहीं हुई है, लेकिन वर्तमान निगम कार्यकाल में दो महीने से भी कम का समय बाकी रहने के चलते सभी राजनीतिक दलों ने चुनावी रणनीति बनाना शुरू कर दिया है। वर्तमान में निगम की राजनीति में गठबंधन की सत्ता है। शिरोमणि अकाली दल के स्थानीय नेतृत्व ने अपने स्तर पर मेयर पांच साल के लिए बनाने की बजाय एक-एक साल के कार्यकाल के बनाने का फैसला लिया है, ताकि मेयर, डिप्टी मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर का एक-एक साल का कार्यकाल देकर पांच साल में 15 वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को काम करने का मौका दिया जा सके।

सूत्रों का कहना है कि जिले की राजनीति में अभी तक अकाली-भाजपा गठबंधन में अकाली दल ही डोमीनेट करता रहा है। ऐसे में माना जा रहा है कि गठबंधन की राजनीति में अकाली दल का अपने स्तर पर लिया गया फैसला भी शहर की राजनीति में खास प्रभाव डालेगा। सूबे में कांग्रेस की सत्ता बनने के बाद से शहर की राजनीति से बाहर चल रहे अकाली दल के नेताओं ने पिछले चार पांच महीने से शहर में तेजी के साथ सक्रियता बढ़ा दी है। स्थानीय राजनीति में माना जा रहा है कि निगम की सत्ता में दोबारा वापस लौटने की रणनीति के तहत ही अकाली दल ने अपनी सक्रियता शहर में बढ़ाई है। हालांकि गठबंधन की सहयोगी भाजपा ने निगम के चुनाव को लेकर अभी तक कोई बड़ी सरगर्मी नहीं दिखाई है। अकाली दल ने जहां आम कार्यकर्ताओं के बीच सक्रियता पैदा शुरू की है वहीं कांग्रेस के नेता आम कार्यकर्ताओं से दूर मेयर चुनाव के दावेदारों को लेकर ताल ठोकते नजर आ रहे हैं। शहर में कांग्रेस नेतृत्व विहीन दिख रही है, पार्टी अभी तक शहर में अपना संगठन तक नहीं बना सकी है। कांग्रेस के संगठनात्मक ढांचे में एक साल पहले शहर ब्लॉक-1 कांग्रेस के अध्यक्ष विनोद बंसल बनाए गए थे, लेकिन ब्लॉक कार्यकारिणी आज तक नहीं घोषित हो सकी है, बाद में वे इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के चेयरमैन बन गए। ऐसे में कांग्रेस की शहर की पॉलिटिक्स आम कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भागीदारी से दूर सिर्फ विधायक डॉ.हरजोत कमल, व इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के चेयरमैन विनोद बंसल के आसपास ही घूम रही है। इसी का फायदा उठाकर अकाली दल ने न सिर्फ कार्यकर्ताओं के बीच अपनी सक्रियता बढ़ाई है, बल्कि रणनीति पर भी काम करना शुरू कर दिया है। पार्टी ने अपने स्तर पर लिया फैसला : बराड़

अकाली दल मोगा सर्कल प्रधान बरजिदर सिंह मक्खन ने कहा कि पार्टी ने ये फैसला अपने स्तर पर लिया है। इस फैसले के पीछे के व्यापक मकसद को पूरा करने की प्रभावशाली रणनीति बनाई गई है, लेकिन इसका खुलासा चुनाव की तिथि घोषित होने के बाद ही किया जाएगा। चुनाव की स्थिति स्पष्ट होने पर कांग्रेस बनाएगी रणनीति

शहर कांग्रेस ब्लॉक-1 के अध्यक्ष विनोद बंसल का कहना है कि निगम चुनाव को लेकर अभी काफी कुछ स्पष्ट होना है। इस बार महिलाओं के वार्ड बढ़े हैं, कौन से वार्ड महिलाओं के हिस्से में रहेंगे, ये सिनोरियो सामने आने के बाद ही किसी रणनीति पर काम शुरू किया जाएगा। कांग्रेस के पास हर वार्ड में प्रत्याशियों की कमी नहीं है, कार्यकर्ताओं में उत्साह है, स्थिति स्पष्ट होने के बाद कांग्रेस अपनी रणनीति बनाना शुरू कर देगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!