संस, मोगा। फफूंद लगी बर्फी बेचने की बात कहते हुए बुधवार शाम को एक स्वीट्स शाप पर पहुंचे इमिग्रेशन सेंटर के संचालक ने काफी हंगामा किया। दुकानदार के साथ विवाद होने पर संचालक ने फूड सेफ्टी विभाग को सूचना दे दी। सूचना मिलने के बाद फूड सेफ्टी विभाग ने मौके पर पहुंचकर बर्फी के सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए हैं, बाद में विभाग ने कुछ अन्य दुकानों से भी सैंपल लिए। कुल नौ सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। इमिग्रेशन सेंटर संचालक अर्शदीप सिंह ने बताया कि उसके कार्यालय में आए एक युवक ने बुधवार को दोपहर बाद अमृतसर रोड स्थित एक सुपर स्वीट शाप से बर्फी खरीदी थी।

युवक बर्फी का डिब्बा लेकर कार्यालय पहुंचा। उन्होंने बताया कि बर्फी में फफूंद लगी हुई थी, वह तुरंत फंफूद लगी बर्फी को लेकर दुकानदार के पास पहुंचा। लेकिन दुकानदार ने उसकी बात सुनने के बजाय उसके साथ अभद्रता शुरू कर दी । पीड़ित व्यक्ति का कहना है कि भले ही सेहत विभाग लोगों को स्वच्छ और शुद्ध खानपान मुहैया करवाने के प्रयास तहत समय-समय पर छापामारी करने के साथ मिलावटी खाद्य वस्तुओं के सैंपल भर रहा है । लेकिन फिर भी बहुत से दुकानदार त्योहारी सीजन को देखते हुए घटिया क्वालिटी की खाद्य वस्तुओं की बिक्री पर जोर दे रहे हैं।

वही दूसरी ओर फूड विभाग के इंस्पेक्टर ज¨तदर विर्क ने बताया कि उनके द्वारा शिकायत मिलने पर तुंरत सुपर स्वीट शाप की नामक दुकान पर पहुंच कर बर्फी के सैंपल लिए है। जिसको संबंधित विभाग की लैब में भेजा जाएगा। रिपोर्ट आने के उपरांत आगामी कार्रवाई की जाएगी।

वही दूसरी ओर मौके पर पहुंचे फूड सेफ्टी विभाग के इंस्पेक्टर ज¨तदर विर्क ने बताया कि विभाग के उच्चाधिकारियों के आदेशों पर त्योहारी सीजन को लेकर सैंपलिंग की जा रही है। लोगों को चाहिए कि वह त्योहारी सीजन को लेकर घटिया क्वालिटी के खाद्य पदार्थ न बेचे। त्योहारी सीजन को देखते हुए विभाग की टीमें जिले में सैंपल भर रही हैं। किसी को भी लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ नही करने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बुधवार को जिले के विभिन्न स्थानों से नौ प्रकार की वस्तुओं के सैंपल लिए गए है।

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट