संसू, बोहा : नजदीक के गाव अचानक में बैंक द्वारा एक किसान की जमीन को कर्ज वापस न करने की एवज में नीलाम किया जा रहा था। भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहा के विरोध के कारण जमीन नीलाम होने से बचाया गया।

जानकारी के अनुसार गाव के एक किसान ने एचडीएफसी बैंक से 12 एकड़ जमीन गहने रख कर 37 लाख रुपये कर्ज लिया था जो वह भरने में असमर्थ था। बैंक ने चंडीगढ़ ट्रिब्यूनल कोर्ट में केस लगा कर जमीन नीलामी के आर्डर हासिल कर लिए। किसान नेता जोगिंदर सिंह दयालपुरा ने कहा कि इस जमीन की नीलामी न किए जाने का निवदेन उन्होंने तहसीलदार बुढलाडा से किया, लेकिन उन्होंने कहा कि नीलामी का आदेश चंडीगढ़ ट्रिब्यूनल कोर्ट से आया है। इसलिए जमीन को नीलाम किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि जमीन नीलामी के विरोध में किसानों ने एकत्र होकर धरना लगाया गया। धरने के बाद कोई भी अधिकारी जमीन की बोली करवाने नहीं पहुंचा। किसान नेता ने कहा कि पंजाब सरकार अपने वायदे से मुकर चुकी है, इसलिए किसानों की जमीन को नीलाम करवाया जा रहा है। जिसे कभी बर्दाश्त नही किया जाएगा। इस अवसर पर सुखपाल सिंह, गोरख नाथ, जगसीर सिंह, जरनैल सिंह, मेजर सिंह ने भी धरने को संबोधित किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!