जासं, लुधियाना : नए साल की शुरुआत हो चुकी है। लोहड़ी के आने की आहट के साथ ही पतंगबाजी के शौकीन तैयारियों में जुट गए हैं। हर बार पतंगें नए-नए डिजाइन में आती हैं। ये छोटे आकार से लेकर काफी बड़े साइज में होती हैं।

वहीं इससे पहले ही अब पतंग और डोर बेचने वाले बाजारों में दुकानें सज गई हैं। शहर के मीना बाजार, फील्डगंज, घुमारमंडी में पतंगों की होलसेल की दुकानें हैं। इन दुकानों पर लोहड़ी से पहले मंगवाई पतंगों में आकर्षक डिजाइन आए हैं। इनमें पब्जी वाली पतंगें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की तस्वीर वाली 'जोड़ी नंबर वन' पतंगें भी शामिल हैं। इन तीनों की डिमांड काफी है। हालांकि इस बार राहुल गांधी की तस्वीर वाली पतंग गायब ही दिखीं। दूसरा राजनीति के चाणक्य कहे जाते अमित शाह की तस्वीर वाली पतंग भी काफी लोकप्रिय है। पब्जी गेम के दीवानों को पब्जी वाली पतंगें आकर्षित कर रही हैं। बच्चों के लिए मोटू-पतलू सहित अन्य कार्टून करेक्टर की पतंगें आई हुई हैं। इसके अलावा आई लव यू, हैप्पी न्यू ईयर, टवेंटी-20, लव लुधियाना, रब्ब सुख करे आदि स्लोगन लिखे वाली पतंगें भी बाजारों में आई हुई हैं। इन दुकानों पर एक से 15 सौ रुपये तक के पतंग बिक्री के लिए रखे गए हैं।

-----

स्लोगन भी लिखे

दो से 50 रुपये में मोदी-अमित शाह वाली पतंग

मीना बाजार में होलसेल पतंगों के कारोबारी हरभजन सिंह ने बताया कि मोदी और शाह चूंकि काफी लोकप्रिय हैं, इसलिए उनकी तस्वीरों वाली पतंगों की इस बार डिमांड काफी है। दो से 50 रुपये तक कीमत वाली ये पतंगें हैं। इन पतंगों पर कई स्लोगन भी लिखे हैं, जैसे जोड़ी नंबर वन, नई सोच -नई उमंग, चौकीदार मोदी। इन दोनों नेताओं के चित्रों वाली पतंगें आते ही बिक जाती हैं।

-------

10 फीसद रेट बढ़े

शौकीनों को जेब करनी पड़ेगी ढीली

पतंगबाजी के शौकीनों को इस बार जेब थोड़ी अधिक ढीली करनी पड़ेगी, क्योंकि पतंगों के रेट दस से प्रतिशत बढ़ गए है। पतंग बनाने वाले कारोबारी हरभजन सिंह के अनुसार पतंगे बनाने के लिए बांस का इस्तेमाल होता है। इसका मटीरियल ज्यादातर यूपी, बिहार, कोलकाता से आता है। देश के कई राज्यों में बाढ़ से बर्बाद हुई बांस के कारण मेन्युफैक्चर्स को बांस महंगे रेट में मिल रहा है। जो पतंग पहले 85 पैसे में होलसेल में बिक रही थी, वह अब एक रुपये में बिक रही है।

------

इस बार खास

छह फुट और आठ कन्नी वाली पतंग

आमतौर पर पतंगें दो कन्नी वाली होती है, लेकिन सीएमसीएच के पास टीएम काइट स्टोर में आठ कन्नी वाली पतंग इस बार बनाई गई हैं। इसके अलावा चार से छह फुट वाली पतंगें भी हैं। विक्रेता हरविदर सिंह के अनुसार पहली बार आठ कन्नी वाला पतंग बनाया है। इसे डबल डोर से उड़ाया जाता है। उनके यहां 150 से एक हाजर रुपये की कीमत वाली पतंगे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!