जेएनएन लुधियाना। शेरपुर चौक पर सीटू के कामरेड विनोद तिवारी के अगुवाई में सीटू के 51 वा स्थापना दिवस मनाया गया। इस दाैरान तिवारी ने बताया कि देश की मोदी सरकार श्रम कानून तोड़ के चार कोड ओर किसान विरोधी काले कानून अगर वापस नहीं लेती हैं तो सीटू अपना संघर्ष तेज करेगी। लोगों ने शपथ लेते हुए कहा कि मोदी सरकार अगर अपना काले कानून वापस नहीं लेती हैं तो सीटू के लोग संघर्ष करते रहेंगे। उन्होंने बताया कि सीटू एक मजदूरों की एक संगठन हैं और मजदूरों की बुलंद करती रहेगी। गाैरतलब है कि इससे पहले कृषि सुधार कानूनाें के खिलाफ भी सीटू प्रदर्शन करती रही है।

हफ्ते में चार दिन काम की अनुमति देने की तैयारी

सरकार नई श्रम संहिताओं में हफ्ते में चार दिन काम की अनुमति देने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है। हालांकि हफ्ते में अधिकतम 48 घंटे काम की सीमा में कोई बदलाव नहीं होगा। श्रम एवं रोजगार सचिव अपूर्व चंद्रा ने यह बात कही है। अपूर्व चंद्रा ने कहा, 'त्रिपक्षीय चर्चा के दौरान एक दिन में 12 घंटे से ज्यादा काम के घंटे पर चिंता जताई गई। हम इसमें लचीलापन लाने पर काम कर रहे हैं। नियोक्ता को हफ्ते में पांच या चार दिन काम की अनुमति दी जा सकती है।'

ये रहे माैजूद

इस माैके पर कामरेड विंनोद तिवारी ,विकास कुमार ,दीपक गौतम, भागीरथी, सुनील कुमार, साजन तिवारी, सोनू गुप्ता,आकाश कुमार,नाैसाद, विकास तिवारी व राजू कुमार आदि उपस्थित थे।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Vipin Kumar