संवाद सूत्र, बनूड़ (पटियाला)। पंजाब कांग्रेस के प्रधान बने नवजोत सिंह सिद्धू के चंडीगढ़ में आयोजित ताजपोशी समाराेह में शामिल होने वाले कांग्रेस वर्करों ने सरकार की नशा विरोधी मुहिम की सरेआम धज्जियां उड़ाईं। इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुई वीडियो में कथित तौर पर कांग्रेस वर्कर शराब की बोतलें बांटते नजर आ रहे हैं।  घटना के बाद कांग्रेस विपक्ष के निशाने पर आ गई है। उधर, डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट पंचायत आफिसर (डीडीपीओ) ने शंभू के ब्लाक डेवलपमेंट पंचायत आफिसर (बीडीपीओ) से इसकी रिपोर्ट मांगी है।

डीडीपीओ सुरिंदर सिंह ढिल्लों ने बताया कि उनके पास वीरवार सुबह वायरल वीडियो आई है। इसमें कुछ लोग शराब की बोतलें बांट रहे हैं। फिलहाल उनकी पहचान की जा रही है कि वह कौन हैं। वहीं शंभू ब्लाक के बीडीओ सुरिंदर सिंह ने कहा कि फिलहाल किसी अधिकारी ने उनसे रिपोर्ट नहीं मांगी है। शराब बांटने की वीडियो में दिखाई देने वाले पंचायत सचिव के बारे में उन्होंने कहा कि वीडियो देखने के बाद ही वह कुछ कह सकते हैं। उनको यह भी जानकारी मिली है। जिस पंचायत सचिव का नाम कहा जा रहा है, वह उस दिन छुट्टी पर था। वह फिर भी रिपोर्ट तैयार करके उच्चाधिकारियों को भेजेंगे।  

बताया जा रहा है कि 23 जुलाई की यह वीडियो चंडीगढ़ में हुई सिद्धू की ताजपोशी समारोह के बाद की है। ताजपोशी समागम के लिए बस किराये पर की गई थी। वीडियो में दिख रहा है कि बस से उतरने के बाद थैले में रखी शराब की बोतलें बांटी गई हैं। बस के ड्राइवर को भी शराब की बोतल भेंट की गई है।

पंचायत सेक्रेटरी कर रहा शराब बांटने में मदद

शंभू ब्लाक का मौजूदा पंचायत सेक्रेटरी भी वीडियो में नजर आ रहा बताया जा रहा है। सेक्रेटरी खुद थैले से शराब की बोतल निकालने में मदद कर रहा है। थैले में रखी शराब की बोतलें समाराेह  में गए वर्करों को बांटी गई बताई जा रही है।

कांग्रेस दे रही नशे को बढ़ावा

विधानसभा चुनाव से पहले ही कांग्रेस पार्टी की नशा विरोधी मुहिम की सच्चाई सामने आने लगी है। लोगों को नशे का लालच दिया जा रहा है। प्रदेश सरकार नशे को रोकने के बजाए बढ़ावा दे रही है। नवजाेत सिद्धू की रैली में शामिल होने वाले कांग्रेस वर्करों की जो वीडियो वायरल हो रही है उसने सरकार की पोल खोल दी है। -डाॅ.भूपिंदर सिंह मनौली सूरत, वरिष्ठ नेता शिअद।

पार्टी की तरफ से कोई शराब नहीं बांटी

चंडीगढ़ में सिद्धू के ताजपोशी समाराेह से लौटने के बाद पार्टी की तरफ से कोई शराब नहीं बांटी गई। बस में बनूड़ और घनौर एरिया के वर्कर भी बैठे थे। रास्ते में ही कहीं से किसी ने शराब खरीदी होगी। पार्टी की तरफ से ऐसा नहीं किया गया। -तेजिंदर सिंह, गांव मोही के सरपंच व कांग्रेस वर्कर।

मैंने हाल ही में यहां का चार्ज संभाला है। वीडियो में यदि एरिया का सेक्रेटरी नजर आ रहा है तो उससे स्पष्टीकरण मांगा जाएगा। रिपोर्ट तैयार कर अधिकारियों को भेजी जाएगी। कोई भी सरकारी कर्मचारी राजनीतिक समाराेह में हिस्सा नहीं ले सकता। -जसविंदर सिह, बीडीओ, ब्लाक शंभू।