जेएनएन, लुधियाना। यहां मां की जगह काम पर गई नाबालिग लड़की जब ड्यूटी के बाद घर लौटने लगी तो गोदाम के मालिक ने लिफ्ट देने के बहाने उसे कार में बैठा दिया। उसने कोरोना की बात कह लड़की को पहनने के लिए मास्क दिया। जैसे ही उसने मास्क पहना उस पर बेहोशी छाने लगी। इसके बाद आरोपित उसे सुनसान जगह पर ले गया और दुष्कर्म किया। लड़की के पारिवारिक सदस्यों ने अब मामले की शिकायत पुलिस में दी है। 

मामला लुधियाना के टिब्बा रोड इलाके का है। यहां मोहम्मद मुक्तजीर नामक व्यक्ति का गोदाम है, जहां कई वर्कर काम करते हैं। नाबालिग लड़की मां भी इसी गोदाम में काम करती है, लेकिन 19 अक्टूबर को उसकी मां की तबियत खराब थी। इसके कारण मां ने 15 वर्षीय बेटी को अपने बदले काम पर भेज दिया।

शाम को छुट्टी के समय जब नाबालिग लड़की घर आने लगी तो तभी मोहम्मद मुक्तजीर वहां पहुंच गया। उसने लड़की से कहा कि वह चिंता न करे वह उसे घर छोड़ देगा। लड़की को उसकी बात पर विश्वास हो गया। वह उसके साथ कार में बैठक गई। लड़की के मुताबिक उसने कहा कि आजकल कोरोना चल रहा है इसलिए वह मास्क पहन ले। आरोपित ने उसे मास्क पहनने के लिए दिया। जैसे ही उसने मास्क पहना उसे बेहोशी सी छाने लगी। इसके बाद आरोपित कार को सुनसान जगह पर ले गया और उससे दुष्कर्म किया। 

एएसआइ सुखदेव सिंह ने बताया कि घटना के बाद से ही पीड़िता सदमे में थी। इसके कारण उसके परिवार ने कोई कार्रवाई नहीं की। शनिवार वो लोग पुलिस के पास आए। जिसके बाद केस दर्ज कर लिया गया। सोमवार को पीड़िता का मेडिकल कराया जाएगा। पुलिस का कहना है कि आरोपित को बख्शा नहीं जाएगा।

 

Edited By: Kamlesh Bhatt

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!