लुधियाना, जेएनएन। बुड्ढा दरिया में प्रदूषण रोकने के लिए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल पंजाब सरकार, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और नगर निगम को कई बार लताड़ लगा चुकी है। इसके बावजूद उनकी तरफ से दरिया में प्रदूषण रोकने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए हैं।

सरकार के ढीले रवैये से अब लोगों रोष फैलने लगा है। सतलुज के प्रवाह क्षेत्र में आने वाले अलग-अलग जिलों की स्वयंसेवी संस्थाएं लुधियाना में जुटीं और उन्होंने बीआरएस नगर स्थिति गुरुद्वारा तेग बहादुर साहिब में बैठक की। स्वयंसेवी संस्थाओं का आरोप है कि सरकार ही बुड्ढा दरिया में प्रदूषण रोकना ही नहीं चाहती है। संस्थाओं ने एक सुर में कह दिया कि बुड्ढा दरिया में प्रदूषण रोकने के लिए सरकार ने ठोस कदम नहीं उठाए तो वे जन लहर शुरू कर आंदोलन छेड़ देंगी। संस्थाओं ने सरकार को अल्टीमेटम दिया है कि जरूरत पड़ी तो वे बुड्ढा दरिया का पानी सतलुज में जाने से रोक देंगे।

सेमिनार की अगुआई निरोआ पंजाब मंच ने की। बैठक में पंजाब निरोआ मंच के कन्वीनर गुरप्रीत सिंह चंदबाजा ने कहा कि पिछले कई सालों से मालवा व राजस्थान के लोग बुड्ढा दरिया के जहर का दंश झेल रहे हैं, लेकिन सरकारें कुछ भी नहीं कर रहीं। स्वयंसेवी संस्थाएं कई बार केंद्रीय मंत्री व राज्य सरकार से मिल चुकी हैं। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल भी सख्त एक्शन लेने की बात कर चुका है, लेकिन राज्य सरकार फिर भी कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है। उन्होंने कहा कि अब राज्यभर की स्वयंसेवी संस्थाएं एकत्रित हो रही हैं। लोगों को बी इससे जोड़ा जा रहा है।

फिर केंद्रीय मंत्री से मिलकर उठाएंगे समस्या

कन्वीनर गुरप्रीत सिंह चंदबाजा ने कहा कि अब फिर से संस्थाएं केंद्रीय मंत्री से मिलेंगी। उसके बाद भी नगर निगम और पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने प्रदूषण नहीं रोका तो संस्थाएं मिलकर बुड्ढा दरिया पर बांध बना देंगी और पानी सतलुज में जाने से रोका जाएगा। बैठक में कोटकपूरा के विधायक कुलतार सिंह संधवां, दमादमा साहिब के पूर्व जत्थेदार ज्ञानी केवल सिंह, जसवंत सिंह जफर, बलतेज सिंह पन्नू, डॉ. अमर सिंह, मनिंदर सिंह, मित्रसेन मीत समेत काफी संख्या में संस्थाओं के सदस्य उपस्थित रहे।

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!