लुधियाना, जेएनएन। लुधियाना में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश केएस सुल्लर की अदालत ने वीरवार को बस्ती जोधेवाल के संजीव कुमार को दस साल कैद की सजा सुनाई है। उसे पत्नी को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का दोषी ठहराया गया है। शादी के दो महीने बाद ही पत्नी ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी। अदालत ने दोषी की ओर से रहम की अपील को भी खारिज कर दिया।

आत्महत्या करने वाली महिला की मां राज कुमारी ने पुलिस को बताया था कि उनकी बेटी सुमन की शादी 29 जून 2017 को संजीव कुमार से हुई थी। वह बेटी को दहेज के लिए बहुत परेशान करने लगा। नौ अगस्त 2017 को बेटी ने बताया कि उससे दो लाख रुपये मांगे जा रहे हैं। उसी रात बेटी ने फोन कर बताया कि उसके साथ दुव्र्यवहार किया जा रहा है। अगले दिन उन्हें सूचना दी गई कि सुमन की तबीयत ठीक नहीं है। वे सीएमसी अस्पताल पहुंच जाएं।

उन्हें पता चला कि पति की प्रताड़ना से दुखी होकर सुमन ने फंदा लगाकर जान दी है। सलेम टाबरी पुलिस थाने में संजीव के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। अदालत ने उस पर लगाए सभी आरोपों को सही पाया और दोषी ठहराते हुए सजा सुनाई।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें