लुधियाना, जेएनएन। सफाई कर्मचारी आयोग पंजाब के चेयरमैन गेजा राम अलग-अलग विभागों में काम कर रहे सफाई कर्मचारियों की समस्याएं जानने लुधियाना पहुंचे। चेयरमैन ने सर्किट हाउस में डीसी समेत जिले के अलग अलग अफसरों को निजी तौर पर शामिल होने को कहा था, लेकिन किसी भी विभाग का प्रमुख सर्किट हाउस नहीं पहुंचा। बैठक शुरू हुई और गेजा राम ने अफसरों से उनका परिचय पूछा तो पता चला कि बैठक में न तो डिप्टी कमिश्नर मौजूद हैं और न ही अन्य विभागों के प्रमुख।

सभी विभाग प्रमुखों ने अपने प्रतिनिधियों को भेजा था। गुस्साए चेयरमैन गेजा राम ने बैठक रद कर एडीसी जनरल के जरिए डीसी को हिदायतें दी कि अगली बैठक में वह खुद भी उपस्थित रहें और अन्य विभागों के प्रमुखों की हाजिरी भी सुनिश्चित करवाएं। यही नहीं उन्होंने साफ कर दिया कि वह सरकार के जरिए डीसी से अफसरों के अनुपस्थित रहने पर जवाब-तलबी भी करेंगे।

सर्किट हाउस में आयोजित बैठक में जिला प्रशासन से एडीसी जनरल इकबाल सिंह संधू, नगर निगम से ज्वाइंट कमिश्नर स्वाति टिवाणा, जिला लोक भलाई अफसर राजिंदर कुमार व अन्य विभागों के अफसर उपस्थित रहे। गेजा राम ने बैठक निरस्त कर सफाई कर्मचारियों की समस्याएं सुनी और उन्होंने कहा कि उनसे सफाई के अलावा भी कई काम लिए जाते हैं। इसके अलावा उन्हें समय पर वेतन भी नहीं मिल रहा है।

गेजा राम ने कहा कि सफाई कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर अफसर गंभीर नहीं हैं। उन्होंने कहा कि जो अफसर सफाई कर्मियों की समस्याओं को अनदेखा करेंगे उनके खिलाफ भी सख्त एक्शन लिया जाएगा। गेजा राम ने कहा कि आयोग की तरफ से बुलाई गई बैठक में अफसरों का न आना लापरवाही पूर्ण रवैया है।

एडीसी ने बताया कि डीसी वीरवार को चंडीगढ़ गए थे इसलिए बैठक में नहीं शामिल हो सके। गेजा राम ने कहा कि डीसी से अब सभी विभागों में सफाई कर्मचारियों के खाली पदों की सूची मांगी गई है। उन्होंने कहा कि अफसरों को पहले ही हिदायतें दी जा चुकी हैं कि सफाई कर्मचारियों को दूसरे विभागों में न भेजा जाए। इस मौके पर वाइस चेयरमैन राम सिंह व सदस्य इंदरजीत सिंह भी शामिल हुए। गेजा राम ने स्वच्छ भारत अभियान पर भी सवाल खड़े किए।

काम न करने वाले कर्मचारियों के खिलाफ भी होगी कार्रवाई

चेयरमैन ने नगर निगम की ज्वाइंट कमिश्नर स्वाति टिवाणा को कहा कि चारों जोनों के सफाई कर्मचारियों की सूची और खाली पदों की सूची तैयार रखें। उन्होंने कहा कि जो सफाई कर्मचारी काम नहीं कर रहा है उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि आयोग की अपनी विजिलेंस टीम है जो कि अब छापेमारी करेगी। जो सफाई कर्मचारियों से संबंधित हर पक्ष की जांच करेंगी। उन्होंने निगम अफसरों को हिदायत दी हैं कि बिना सेफ्टी किट के किसी भी सीवरमैन को मैनहोल में न उतारें। जब तक निगम का कोई अफसर मौके पर न हो। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!