लुधियाना, जेएनएन। Third Degree Torture Case : शहर की हैबोवाल पुलिस पर कथित तौर पर थर्ड डिग्री टार्चर करने के मामले में शुक्रवार को बैठी अधिकारियों की एसआइटी ने दोनों पक्ष के बयान दर्ज किए। सिट ने पहले वकील भाइयों हैबोवाल के बचन नगर निवासी सिद्धार्थ चांदी व मोहित चांदी को बुलाकर उनके बयान कलमबद्ध किए। उसके बाद वकीलों के आरोपों का सामना कर रहे पूर्व एसएचओ व उनकी टीम का पक्ष भी जाना। एसीपी वेस्ट गुरप्रीत सिंह ने बताया कि दोनों पक्ष को एक बार फिर से बुलाया जाएगा।

 

वकील भाइयों द्वारा लगाए गए आरोपों के बारे में पुलिस की टीम से सफाई मांगी गई है। इसके लिए उन्होंने समय मांगा है। बता दें कि 13 नवंबर को थाना हैबोवाल पुलिस ने वकील भाइयों पर केस दर्ज करके उन्हें गिरफ्तार किया था। अगले दिन जमानत के दौरान दोनों ने अदालत में पुलिस पर धक्केशाही और थर्ड डिग्री टार्चर करने का आरोप लगाया। इसके बाद दोनों का डाक्टरों के बोर्ड से मेडिकल कराया गया।

 

क्या है पूरा मामला

16 नवंबर को वकीलों ने पुलिस कमिश्नर दफ्तर के बाहर प्रदर्शन करके थाना प्रभारी व पुलिस टीम पर कार्रवाई की मांग की। पुलिस कमिश्नर ने मामले की जांच के लिए जेसीपी भागीरथ सिंह मीना के नेतृत्व में स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम बना दी, जिसमें एडीसीपी-तीन समीर वर्मा और एसीपी वेस्ट गुरप्रीत सिंह को शामिल किया गया। उसी दिन मामले में एसएचओ, एएसआइ तथा हवलदार को लाइन हाजिर किया गया है, जबकि एक एएसआइ को सस्पेंड कर दिया गया।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021