जागरण संवाददाता, लुधियाना। इंटरनेट मीडिया पर सिख गुरु के प्रति अपशब्द बोलने के मामले में नामजद हुए विश्व हिंदू परिषद के नेता अनिल अरोड़ा तथा उसके 3 अज्ञात साथियों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर विभिन्न सिख संगठनों ने सोमवार समराला चौक में धरना देकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। जिसके चलते समराला चौक में आने वाली सभी सड़कों की ट्रैफिक व्यवस्था बुरी तरह से चरमरा कर जाम हाे गई। घटना का पता चलते ही डीसीपी एसपीएस ढींढसा तथा एडीसीपी रुपिंदर कौर सरां चार पुलिस स्टेशन के एसएचओ तथा भारी पुलिस बल समेत वहां पहुंचे।

अधिकारियों ने प्रदर्शन कर रहे शिअद के पूर्व विधायक रणजीत सिंह ढिल्लों, गुरुद्वारा दुख निवारण साहिब के प्रधान प्रितपाल सिंह, गुरदेव देबी, शिअद मान के जसवंत सिंह चीमा समेत अन्य नेताओं को आश्वासन दिया कि पुलिस आराेपितों के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। उनके परिजनों को पुलिस हिरासत में रखा हुआ है। जल्दी ही वो लोग भी सलाखों के पीछे होंगे। मगर प्रदर्शनकारी उनकी किसी बात को मानने के लिए तैयार नहीं हुए। उनकी एक ही मांग थी कि जब तक उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाता, वो लोग धरने से नहीं हटेंगे।

बता दें कि 20 अक्टूबर को थाना डिवीजन नंबर 3 पुलिस ने शिवाजी नगर निवासी परमिंदर सिंह की शिकायत पर मुंडियां कलां के 33 फुटा रोड स्थित घई मार्केट के पास गुरु नानक नगर की गली नंबर 3 अनिल अरोड़ा, एनआरआई आशीष कुमार, मोहित कुमार तथा उनके अज्ञात साथी पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोेप में केस दर्ज किया था। मगर अगले दिन सिख संगठनों ने पुलिस कमिश्नर से मिल कर मामले में 153 ए (धर्म के नाम पर फसाद पैदा करना) की धारा और जोड़ने की मांग की। जिस पर उसी शाम पुलिस ने उस मामले में वो धारा जोड़ दी थी।

दूसरी ओर अनिल अरोड़ा ने फेसबुक पर लाइव होकर कहा है कि उसने क्लब हाउस का अकाउंट एक महीने पहले ही बंद कर दिया है। किसी ने उसकी फेसबुक से फोटो निकाल कर गलत आइडी बनाकर क्लब हाउस में ज्वाइन कर उसकी आवाज निकाली है। अरोड़ा ने एक निजी चैनल में इंटरव्यू में कहा कि वो इसकी कंप्लेंट सीपी लुधियाना समेत अन्य अधिकारियों को दे चुका है। उस आवाज की जांच करवाई जाए। अगर वह आवाज उसकी निकली तो जो बनती सजा होगी, उससे 10 गुना ज्यादा सजा उसे दी जाए।

Edited By: Vipin Kumar