जागरण संवाददाता, लुधियाना : एतिहासिक जामा मस्जिद लुधियाना में शाही इमाम पंजाब मौलाना मुहम्मद उस्मान लुधियानवीं ने कहा कि बीते दिनों में कश्मीर से कई पंडित परिवारों का आतंकवाद की वजह से पलायन देश के लिए शर्म की बात है। कश्मीर में सिख प्रिसिपल सहित अन्य लोगों पर आतंकी हमला सहन नहीं किया जा सकता।

शाही इमाम ने कहा कि इस बीच कश्मीर की मस्जिदों से अपने हमवतन हिदू भाइयों के हक में किए जा रहे एलान सराहनीय हैं, लेकिन इसके साथ ही सभी कश्मीरियों को अपने हिदू-सिख पड़ोसियों के लिए आतंकवाद का मुकाबला करना होगा। आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता। हम सभी को आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होना होगा। केंद्र सरकार को चाहिए कि वादी से पलायन करके आए कश्मीरी पंडितों को पूरी सुरक्षा के साथ वापस कश्मीर में इनके घरों में आबाद करे और सरकार की ओर से उनके नुकसान की भरपाई की जाए। इस देश में रहने वाले सभी नागरिक आपस में भाइयों जैसे है हम आतंकवाद और अत्याचार कभी सहन नहीं करेंगे।

Edited By: Jagran