जागरण संवाददाता, खन्ना : मंदिर देवी दवाला में आयोजित शारदीय नवरात्र महोत्सव के दूसरे दिन राकेश भांबरी और अनिता द्वारा सुबह की पूजा करवाई गई। इस अवसर मंत्रोच्चारण के साथ पुजारी मोहन परगाई ने क्रमवार पूजन करवाने के बाद मां ब्रह्मचारिणी के स्वरूप का आह्वान किया। इस दौरान मां भगवती को फूल, फल एवं विभिन्न श्रृंगार की वस्तुएं भेंट की गईं। उन्होंने माता की महिमा के बारे में बताया कि देवी ब्रह्म शक्ति यानि तप की शक्ति का प्रतीक हैं।

इनकी अराधना करने से भक्त की तप करने की शक्ति बढ़ती है। देवी संदेश देती है कि जीवन में बिना परिश्रम के सफलता हासिल नहीं हो सकती। देवादि देव महादेव शंकर को पति के रूप में पाने के लिए इन देवी ने कई वर्षो तक कठिन तपस्या निराहार रहकर की और शिव की अद्र्धागिनी बनीं। शाम को संकीर्तन मंडली ने संगीतमय दुर्गा स्तुति एवं माता की भेंटें गाकर सभी भक्तों को मंत्रमुग्ध किया।। इसके बाद भक्तों ने पूरे हर्षोल्लास के साथ माता की भव्य आरती उतारी और प्रसाद वितरित किया गया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!