जेएनएन, खन्ना/मोगा। Citizenship Amendment Act: राष्ट्रीय विचार मंच की तरफ से नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के समर्थन में रैली आयोजित की गई। इस दौरान विभिन्न संगठनों के सदस्यों ने हाथों में कानून के पक्ष में तख्तियां भी उठा रखी थी। रैली में पाकिस्तान से आए पूर्व विधायक बलदेव कुमार ने हाथ में तिरंगा लेकर 'भारत माता की जय' के नारे लगाए। वहीं, मोगा में विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल ने रविवार को शहर में CAA के समर्थन में तिरंगा रैली निकाली। इसमें लोग 200 फुट का तिरंगा लेकर शामिल हुए।

लुधियाना में मुख्य वक्ता प्रसिद्ध विचारक किशोर कांत ने कहा कि विरोध के कारण ही देश को पता चला कि CAA कितना महत्वपूर्ण है। इस कानून को समझना बहुत जरूरी है। धर्म के नाम पर 1947 में देश का बंटवारा हुआ। उस वक्त भारत धर्मनिरपेक्ष रहा, जबकि पाकिस्तान इस्लामिक स्टेट बना। नेहरू लियाकत समझौते में कहा गया कि धार्मिक भेदभाव नहीं होगा। इस कारण बहुत लोग पाक में रुक गए।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के पहले कानून मंत्री योगेंद्र नाथ मंडल कुछ साल रुक कर वापस आ गए। उन्होंने कहा था कि पाक में हिंदुओं व सिखों का रहना आसान नहीं। वहां पर अल्पसंख्यकों के पास तीन ही रास्ते हैं। इस्लाम कबूल करो या मारे जाओ या फिर भाग जाओ। इस कारण लोग भागकर यहां आए। उन्होंने कहा कि 31 दिसंबर 2014 से पहले जो लोग धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए, उनके लिए ही यह कानून है। अब अफवाह फैलाई जा रही कि पता नहीं कितने लोग आ जाएंगे। कानून को समझते हुए इसका समर्थन करें।

रैली में भारतीय जनता पार्टी, विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल, राष्ट्रीय सिख संगत, शिवसेना पंजाब, शिवसेना हिंदुस्तान, संस्कृत सेवा संघ, सेवा भारती, भारत विकास परिषद, संस्कृत भारती, संस्कृति जागरण मंच सहित एक दर्जन से ज्यादा संगठनों के प्रतिनिधि शामिल हुए। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!