दिलबाग दानिश, लुधियाना। एक आर्म लाइसेंस पर 2 से ज्यादा हथियार रखने वाले सावधान हो जाएं। अगर तीसरा या चौथा हथियार जमा नहीं करवाया है तो पुलिस विभाग आपके खिलाफ कार्रवाई कर सकता है। पुलिस द्वारा हथियारों के लाइसेंस की की जा रही जांच के दौरान यह आदेश जारी हुए हैं।

पुलिस विभाग की तरफ से 139 लोगों को नोटिस जारी हुए हैं, जिनके तीन या इससे ज्यादा हथियार के लाइसेंस बने हैं। इनमें से आठ ने जवाब देते हुए बताया है कि उनकी तरफ से अपने हथियार बेच दिए हैं और बाकी 131 के जवाब का इंतजार किया जा रहा है। अगर वह अपने हथियार जमा नहीं करवाते हैं ओर अपना जवाब नहीं देते हैं तो उनका लाइसेंस रद किया जा सकता है। पुलिस की तरफ से इसके लिए कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

बता दें कि सिद्धू मूसेवाला और हिंदु नेता की हुई हत्या के बाद पुलिस ने हथियारों के प्रदर्शन पर पाबंदी लगाने के साथ साथ नए लाइसेंस बनाने पर भी पाबंदी लगा दी थी। पिछले पंद्रह दिन से पंजाब में लाइसेंसों का रिव्यू किया जा रहा है। इसी क्रम में पुलिस कमिशनरेट के अधीन आते 31 थानों के अधीन आते 18000 असलाहधारकों की जांच की जा रही है। इसके लिए थाना स्तर पर अभियान चलाया जा रहा है। थाना प्रभारी बीट प्रभारी से फिजीकल वेरीफिकेशन करवा रहे हैं, जिसकी रिपोर्ट एसीपी, फिर एडीसीपी और इसके बाद एसीपी लाइसेंसिंग के पास पहुंच रही है।

अब तक 4028 लाइसेंस चेक 131 को नोटिस

पुलिस की तरफ से अब तक थाना स्तर पर 4028 असलाह लाइसेंस धारकों की फिजीकल वेरीफिकेशन करवाई जा चुकी है। जिसकी रिपोर्ट एक दो दिन में एसीपी लाइसेंसिंग के पास एक या दो दिन में पहुंचने की उम्मीद है। इन्हीं रिपोर्ट के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। पुलिस की तरफ से अब तक 131 को नोटिस भी जारी हो चुके हैं। इसके अलावा पुलिस की तरफ से असले की दुकानों पर भी चेकिंग की जा रही है।

आपराधिक मामले दर्ज कर चुकी है पुलिस

पुलिस की तरफ से अब तक चार आपराधिक मामले भी दर्ज किए गए हैं। एक मामला गायक द्वारा हथियारों को प्रमोट करने का गीत गाने, चलती गाडी में चलते समय हवाई फायर करने और एक युवक द्वारा दूसरे को गाड़ी में से ही मारने की धमकी देते हुए रिवालवर दिखाकर डराने पर आपराधिक मामला दर्ज किया गया है। मगर अभी तक इन मामलों में गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

नफरी की कमी के चलते धीमी हो रही चेकिंग की रफ्तार

पुलिस के पास नफरी की बेहद कमी है, थानों के अंदर स्टाफ इतना भी नहीं कि वह केसों की जांच ही कर सके तो इस तरह से वेरीफिकेशन का काम प्रभावित हो रहा है। 18,000 में से पांचवा हिस्सा लाइसेंसों की वेरीफिकेशन 17 दिन में हो सकी है, इस हिसाब से पूरे लाइसेंस की जांच में दो माह का समय लग सकता है। जिससे यह काम काफी देरी से होगा।

दो या तीन दिन में दिखेगा एक्शन, एसीपी

एसीपी लाइसेंसिंग सोमनाथ का कहना है कि उनकी तरफ से लगातार कार्रवाई की जा रही है। हमने अब तक कई असलाह की दुकानों पर चेकिंग की है। अब तक 4028 लाइसेंस को फिजीकली जा कर चेक किया गया है और यह काम लगातार जारी है। अगले दो या तीन दिन में हमारे पास इसकी रिपोर्ट आनी शुरू हो जाएंगीं। जिसके आधार पर पुलिस द्वारा चेकिंग की जाएगी।

इस तरह से हो रही चेकिंग

  • जिस व्यक्ति के नाम पर लाइसेंस जारी हुआ वह जिंदा है
  • लाइसेंस धारक को किससे खतरा है कि उसने हथियार रखा
  • लाइसेंस धारक बताए पते पर रह भी रहा है या नहीं
  • असलाधारक ने कब से हथियार रखा और कब कब इसका इस्तेमाल किया
  • उसके द्वारा कितने रौंद लिए गए और कितने कहां चलाए
  • क्या असलाह लेने के बाद उसके खिलाफ आपराधिक मामला तो दर्ज नहीं हुआ

Edited By: Pankaj Dwivedi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट