जेएनएन, लुधियाना। पुलिस ने काउंटर इंटेलिजेंस की मदद से शनिवार को बब्बर खालसा इंटरनेशनल के सात आतंकियों को गिरफ्तार किया। उनके कब्जे से तीन देसी पिस्तौल और 33 कारतूस बरामद हुए। ये पंजाब में बड़ी वारदात को अंजाम देने की साजिश बना रहे थे। सिख पंथ के खिलाफ बोलने वाले लोग इनके निशाने पर थे और जल्द ही उन पर हमला करने वाले थे। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर पूछताछ शुरू कर दी है।

पुलिस कमिश्नर आरएन ढोके और डीसीपी क्राइम गगन अजीत सिंह ने बताया कि बब्बर खालसा इंटरनेशन का मुख्य सरगना सुरिंदर सिंह बब्बर इंग्लैंड में रह रहा है। बब्बर ने पंजाब में माहौल खराब करने और सिख पंथ के खिलाफ बोलने वाले लोगों को टारगेट बनाने के लिए फेसबुक व वॉट्सएप के जरिए एक टीम का गठन किया है, जिससे सातों आरोपी उसके नेटवर्क में आए।

गिरफ्तार आतंकियों के बारे में बताते पुलिस अधिकारी।

ये हुए गिरफ्तार

-कुलदीप सिंह उर्फ ङ्क्षरपी: सुभाष नगर, लुधियाना
-जसवीर सिंह: तरनतारन
-अमनप्रीत सिंह उर्फ अमना: जालंधर
-मनप्रीत सिंह: मोगा
-ओंकार सिंह: अमृतसर
-जुगराज सिंह: अमृतसर
-अमृतपाल सिंह: अमृतसर

हथियारों के लिए भेजे पैसे

बब्बर खालसा के नेटवर्क में आने के बाद सुरिंदर सिंह अन्य आतंकियों से चुनिंदा लोगों को टारगेट करने के लिए कहता था। इसके लिए सातों सदस्यों को करीब 20 हजार रुपये भी भेजे थे, जिससे उन्होंने तीन देसी पिस्तौल और कारतूस खरीदे। वारदात के लिए उन्होंने पिछले कुछ महीनों में कई बैठकें भी की थीं, जिनमें से तीन बैठकें लुधियाना के ट्रांसपोर्ट नगर में हुईं।

लिस्ट बनाकर भेजी इंग्लैंड

सातों आतंकी फेसबुक और वॉट्सएप पर सक्रिय रहते थे। इस दौरान वे फेसबुक पर सिख धर्म के खिलाफ बोलने वाले लोगों पर नजर रखते थे और उनकी फोटो व बयान निकालकर इंग्लैंड में बैठे बब्बर के भेजते थे। उसके बाद बब्बर ने लिस्ट इनको भेज दी, ताकि वे उन लोगों को टारगेट बनाएं।

पाठी का काम करने वाले को बनाया लीडर

बब्बर खालसा इंटरनेशनल के सात सदस्यों में से पाठी का काम करने वाले अमनप्रीत को गैंग लीडर बनाया गया था। जो वारदात को अंजाम देने और पूरी प्लानिंग करने का काम करता था। इस दौरान आरोपी कुलदीप सिंह ने तीन पिस्तौल और कारतूस का इंतजाम किया। अन्य सदस्य रेकी व अन्य काम देख रहे थे।

यह भी पढ़ेंः पंजाब में दो सड़क हादसों में चार बच्चों सहित दस लोगों की मौत

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!