जागरण संवाददाता, लुधियाना। पंजाब डायर्स एसोसिएशन का कई महीनों से चल रहा विवाद चुनाव प्रक्रिया के जरिए खत्म हो गया है। अब कमेटी में तालमाल के लिए आने वाले समय के लिए टीम के मुखिया का गठन आज चंडीगढ़ रोड स्थित होटल मोती महल में किया जाएगा। इस बैठक में सभी विजेता डायरेक्टर शामिल होंगे और इस दौरान वोटिंग के जरिए एसोसिएशन की नई टीम के पदाधिकारियों का गठन किया जाएगा।सबसे अधिक वोट लेकर सर्वसम्मति से अशोक मक्कड़ को चेयरमैन बनाया गया है। जबकि अभी एमडी, महासचिव, सचिव और सीएफओ का गठन किया जाएगा।

अब पंजाब डायर्स एसोसिएशन ताजपुर रोड के सात डायरेक्टर और फोकल प्वाइंट के सात डायरेक्टरों की संयुक्त कमेटी का गठन किया जाएगा। ताकि दोनों ही सीईटीपी का संचालन बेहतर तरीके से किया जा सके। इसके साथ ही समय पर सीईटीपी का निर्माण कर इनके संचालन को बेहतर किया जा सके। पंजाब डायर्स एसोसिएशन की नई टीम के लिए अब समय पर सीईटीपी के निर्माण कार्य को पूरा करना एक बड़ी चुनौती होगी। क्योंकि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल और पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से इसको लेकर नोटिस से लेकर जुर्माना भी लगा दिया गया है। इसके साथ ही एसोसिएशन की नई टीम के लिए शेयरों की बांट को लेकर भी सभी सदस्यों की अपेक्षाओं पर खरा उतरना होगा।

यह भी पढ़ें- नए भर्ती कृषि अफसरों को मिलेगा प्रशिक्षण

पंजाब सरकार ने कृषि और किसान कल्याण विभाग में नए भर्ती हुए 108 कृषि विकास अफसरों (एडीओज) के लिए 12 दिवसीय प्रशिक्षण प्रोग्राम शुरू किया गया है। इसके तहत पंजाब कृषि प्रबंधन और एक्स्टेंशन प्रशिक्षण इंस्टीट्यूट (पीएएमईटीआइ) की तरफ से पहले चरण में नव नियुक्त 55 एडीओज को प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जबकि दूसरे चरण में 53 एडीओ प्रशिक्षित होंगे। वीरवार को इस प्रशिक्षण प्रोग्राम में अतिरिक्त मुख्य सचिव (विकास) अनिरुद्ध तिवारी भी पहुंचे। एडीओ को संबोधित करते हुए तिवारी ने पंजाब में हरित क्रांति लाने वाले मूलभूत कारकों के बारे में जानकारी देने के अलावा मौजूदा चुनौतियों और इनको दूर करने के बारे में बताया। कृषि विभाग के डायरेक्टर डा. सुखदेव सिंह सिद्धू ने उम्मीद जताई कि वह किसानों के साथ निरंतर संपर्क में रहते हुए तबदीली लाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेंगे।

Edited By: Vinay Kumar