सत्येन ओझा, मोगा। मोगा विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में मालविका सूद को प्रत्याशी बनाए जाने की घोषणा के बाद अब डा. हरजोत कमल भाजपा में औपचारिक रूप से शामिल हो गए हैं। सूत्रों की मानें तो भाजपा के राष्ट्रीय प्रधान जेपी नड्डा के स्तर पर सभी पहलुओं पर गंभीरता से विचार के बाद पार्टी डा. हरजोत कमल को मोगा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी मालविका सूद के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारना लगभग तय है।

हालांकि स्थानीय भाजपा नेता अभी ये बात मानने को तैयार नहीं है कि प्रत्याशी डा. हरजोत कमल को बनाया जा सकता है। डा. हरजोत कमल के भाजपा में शामिल होने व मालविका के खिलाफ प्रत्याशी बनने का फैसला तीन दिन पहले ही हो चुका था, सिर्फ मालविका के आधिकारिक रुप से प्रत्याशी घोषित होने का इंतजार था। मालविका के प्रत्याशी घोषित होते ही दो घंटे बाद उनकी भाजपा में शामिल होने की घोषणा हो गई।

हरजोत कमल के करीबी सूत्रों की मानें तो उनकी भाजपा में एंट्री भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की मध्यस्थता से हुई है। सभी समीकरणों पर गंभीरता से विचार विमर्श के बाद डा. हरजोत कमल को मालविका के खिलाफ भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में उतारने का फैसला भी पार्टी अंतिम रूप से कर चुकी है। हरजोत कमल के साथ उनकी टीम भाजपा में आने के बाद पार्टी कांग्रेस प्रत्याशी को टक्कर दे सकता हो।

मालविका बोलीं- हरजोत बड़े भाई

डा. हरजोत कमल के बागी तेवर दिखाने के बाद से ही मालविका सूद लगातार कह रही हैं कि डा. हरजोत कमल उनके बड़े भाई हैं, बहन भाई के बीच नाराजगी चलती ही रहती है, भाई को हक है वह बहन से नाराज हो जाए, बहन को हक है नाराज भाई को मना ले, वे खुद जाकर डा.हरजोत कमल को मनाएंगी।

डा. हरजोत कमल क्या बोले

विधायक डा.हरजोत कमल ने मालविका सूद की प्रतिक्रिया पर कहा कि उस समय बड़ा भाई कहां गया जब उन्होंने सोनू सूद की मां के नाम पर उनके घर को जाने वाली सड़क का नाम प्रो. सरोज सूद मेमोरियल रोड रखा था। इसके बाद खुद सोनू सूद ने अपने फेसबुक पेज पर स्वीकार किया था कि डा. हरजोत कमल ने उनकी मां के नाम पर सड़क का नाम रखकर बहुत बड़ा काम किया है, उन्हें इंतजार है मोगा जाएंगे तो उसी सड़क पर डा. हरजोत कमल के साथ कमाल की यादगार सेल्फी लूंगा, लेकिन आज तक सेल्फी लेने की बात याद नहीं आई, आज जब मतलब पड़ा तो बड़े भाई की याद आ गई।

Edited By: Kamlesh Bhatt