लुधियाना (मुनीश शर्मा) : प्रिंटिंग इंडस्ट्री में लगातार कम हो रहे मैनपावर और युवाओं में बढ़ रही बेरोजगारी को रोकने के लिए ऑफसेट प्रिंटर एसोसिएशन ने एक विशेष अभियान आरंभ किया है। इसमें कम पढ़े लिखे व पढ़ रहे युवाओं को प्रिंटिंग इंडस्ट्री के काबिल बनाने के लिए ट्रेनिंग प्रोग्राम प्रिंट चेतना आरंभ किया गया है। इसमें प्रिंटिंग एंड पैकेजिंग सेक्टर में रोजगार के प्रति युवाओं को जागरूक करने से लेकर ट्रेनिंग देकर स्टाइपन भी दी जाएगी। साथ ही ट्रेनिंग के बाद उन्हें प्रिंटिंग एसोसिएशन की ओर से पक्की नौकरी भी दी जाएगी।

यही नहीं जो लोग अपना काम करना चाहेंगे, उन्हें एसोसिएशन काम भी मुहैया करवाएगा। एसोसिएशन की ओर से करवाए गए एक सर्वे के मुताबिक देश के 63 प्रतिशत बच्चे दसवीं तक पढ़ाई छोड़ देते हैं या पढ़ नहीं पाते। ऐसे में युवा मजदूरी करना नहीं चाहते और नशे सहित कई बुरी आदतों के दलदल में फंस जाते हैं। एसोसिएशन प्रिंटिंग इंडस्ट्री में कैरियर बनाने को लेकर शहर के साथ-साथ ग्रामीण स्कूलों में जागरूकता अभियान चलाएगी। इसके लिए वर्कशॉप, सेमिनार और कांटेस्ट आयोजित किए जाएंगे। लुधियाना की 170 प्रेसों में होगी ट्रेनिंग ऑफसेट प्रिंटर एसोसिएशन के महासचिव कमल चोपड़ा के मुताबिक युवाओं को सही दिशा देने की आवश्यकता है। प्रिंटिंग इंडस्ट्री का विस्तार तेजी से हो रहा है, लेकिन मैनपावर की शॉर्टेज बढ़ रही है। ऐसे में हमारे इस प्रोजेक्ट के जरिए कोर्स डिजाइन किए गए हैं, जिन्हें करने के दौरान भी युवाओं को एक हजार से तीन हजार रुपये का स्टाइपन दिया जाएगा। इसके लिए शहर की 170 प्रिंटिंग प्रेस शामिल की गई है। इसमें सहुलियत के मुताबिक जहां बच्चे का घर होगा, उसके करीब की प्रेस में ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके पश्चात अगर बच्चा काम करने की उम्र में हो जाएगा तो उसे पक्की नौकरी या काम भी मुहैया करवाया जाएगा, जबकि अंडरएज बच्चों को ट्रेनिंग के साथ स्टाइपन दिया जाएगा। प्रिटिंग इंडस्ट्री में आपार संभावनाएं ऑफसेट प्रिंटर एसोसिएशन के अध्यक्ष एवं भारत बॉक्स के एमडी प्रवीण अग्रवाल के मुताबिक प्रिटिंग को लेकर आपार संभावनाएं हैं।

इसको लेकर युवाओं को तैयार करना हमारा लक्ष्य रहेगा, ताकि बेरोजगारी को दूर करने के साथ-साथ इस सेक्टर को और एडवांस किया जा सके। इसके लिए एसोसिएशन की ओर से युवाओं को ट्रेनिंग देने के लिए सारी इंडस्ट्री सहयोग करेगी। किस तरह के होंगे कोर्स इसमें कई तरह के कोर्स शामिल किए गए हैं, जो प्रिंटिंग इंडस्ट्री का अहम हिस्सा हैं। इसमें सभी कोर्सेज को करने की सुविधा भी दी जाएगी, ताकि कोई भी युवा बड़ा होकर अपनी प्रेस भी लगा सके। यह कोर्स 150 घंटे के होंगे। इनके लिए समय की फ्लैक्सीबिलिटी भी दी जाएगी। यह हैं कोर्स बेसिक ऑफ प्रिंटिंग सेक्टर ऑफसेट मशीन ऑपरेशन ऑफसेट मशीन ऑपरेशन वेब परफेक्टर प्री प्रेस (प्लेट मेकिंग) प्री प्रेस डीटीपी फोटो एडिटिंग स्क्रीन प्रिटिंग पोस्ट प्रेस एडवांस सुपरवाइजरी फॉर प्रिटिंग सेक्टर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!