जागरण संवाददाता, लुधियाना: रामनगर मुंडियां के फ्लैटों में ग्राउंड फ्लोर पर रहने वाली महिला चंद्रमा को निगम अफसर दूसरी फ्लोर पर भेज रहे हैं। महिला के पैर में चोट लगी है और उसकी मां गंभीर रूप से घायल है। चंद्रमा पहले निगम कमिश्नर कंवलप्रीत कौर बराड़ को मिल चुकी है और उन्होंने अफसरों को कार्रवाई करने के निर्देश दिए, लेकिन अफसरों ने उसकी सुनवाई नहीं की। चंद्रमा बुधवार को कमिश्नर दफ्तर आई तो निगम के पुलिस कर्मियों ने उसे मिलने नहीं दिया। 

उसके बाद वह कमिश्नर की गाड़ी के पास आ गई। कमिश्नर लंच के लिए निकलने वाली थीं तो पुलिस ने फिर से महिला को घेर दिया। निगम कमिश्नर जैसे ही अपनी कार में बैठकर आगे निकलीं तो पुलिस कर्मी उसे रोकते रहे। महिला निगम कमिश्नर की कार के पीछे रोते हुए दौडऩे लगी।

 महिला बोली आप के अफसर मिलने नहीं देते


 

गेट पर जाकर कमिश्नर रुकीं तो महिला ने विंडो से अपनी फरियाद बतानी शुरू की। इसी बीच कमिश्नर गाड़ी से बाहर उतरीं तो महिला कमिश्नर के पैरों में गिरकर रोने लगी। कमिश्नर ने महिला की बात सुनी। कमिश्नर ने कहा कि संबंधित अफसरों से बात करके महिला की दिक्कत को दूर कर दिया जाएगा। फरियादी महिला चंद्रमा जब निगम कमिश्नर से मिली तो उसने कहा कि आपके यह पुलिस वाले और अफसर उसे आपके दफ्तर में है अंदर आने नहीं देते हैं इसलिए उसे हर बार आप को मिलने के लिए आपकी गाड़ी के पास आना पड़ता है महिला ने बताया कि पिछली बार भी पुलिस वालों ने उससे दफ्तर के अंदर में आने नहीं दिया और फिर वह कार के पास खड़ी हो गई थी

मेरा पैर टूटा है मां बीमार है 

फरियादी महिला नए कमिश्नर को बताया की उनके अफसर बार बार उसे ग्राउंड फ्लोर खाली कर ऊपर की मंजिल पर जाने का दबाव डाल रहे हैं उसने कहा कि उसकी मां सख्त बीमार है और उसके खुद के पैर में गंभीर चोट लगी है जिसकी वजह से वह सीढिय़ां नहीं चढ़ पाती है फिर अफसरों ने पहले उसे मेडिकल बनवाने को कहा और जब वह मेडिकल बना कर लाई तो उसकी बात सुनने से इनकार कर दिया

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sat Paul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!