जागरण संवाददाता, लुधियाना : मुखबिरी के शक में हरजिदर जिदी की हत्या करने वाले सुखविदर मोनी को हरिद्वार पुलिस ने उसके साथी समेत काबू कर लिया है। मोनी हरिद्वार के आरके पुरम क्षेत्र के जमालपुर खुर्द में किराये पर कमरा लेकर रह रहा था। उसने हत्या से पहले पूरी योजना हरिद्वार में ही बनाई थी और वहीं से कार लूटकर लुधियाना आया था। वारदात के बाद वापस हरिद्वार में जाकर रहने लगा था। वहां की पुलिस ने उसे कार में जाते समय बदमाश सुमित के साथ काबू किया है। पुलिस ने उनसे लूटी कार, दोनों से पिस्टल और नकदी बरामद की है। लुधियाना पुलिस की एक टीम उससे पूछताछ करने और प्रोडक्शन वारंट पर लाने के लिए हरिद्वार रवाना हो चुकी है। 23 जनवरी को की गई थी हरजिदर सिंह जिदी की हत्या

बता दें कि हरजिदर सिंह जिदी की जवाहर नगर कैंप में 23 जनवरी को गैंगस्टर और बैंक डकैती में नामजद रहे गैंगस्टर सुखविदर सिंह मोनी ने अपने एक साथी के साथ मिलकर हत्या कर दी थी। उसे एक क्लीनिक में घुसकर गोलियां मारी गई थीं। भागते समय भी फायरिग की थी। पुलिस ने उसके खिलाफ थाना डिवीजन नंबर पांच में आपराधिक मामला दर्ज किया था और उसकी तलाश कर रही थी। एटीएम लूट मामले में नामजद होने की रखता था रंजिश

दरअसल सुखविदर सिंह मोनी बैंक डकैती के एक केस में रुड़की से जमानत पर शहर आया था। इसी दौरान पखोवाल रोड पर हुए 23 लाख नकदी वाले एटीएम लूटने के मामले में पुलिस ने उसे नामजद कर लिया था। उसे शक था कि हरजिदर जिदी पुलिस का मुखबिर है और उसी ने मुखबिरी कर उसे केस में फंसाया था। इसी रंजिश में उसने इस वारदात को अंजाम दिया था। यही नहीं जिदी की एरिया में काफी पूछताछ थी और वह अकसर मोनी को धमकाता और नीचा दिखाता था। अपना वर्चस्व बनने के लिए उसने कार को काफी दूर खड़ा किया और फायरिग करते हुए कार में फरार हुआ था। रुड़की जेल में सुमित से हुई दोस्ती

सुखविदर सिंह मोनी ने उत्तर प्रदेश के एरिया में बैंक डकैती की थी और वह वहां पकड़ा गया था। रुड़की जेल में ही उसकी जानहचान सुमित निवासी घासरेकी गांव थाना गागलहेड़ी जिला सहारनपुर (उत्तर प्रदेश) के साथ हुई थी। यहां पर नामजद होने के बाद वह सहारनपुर चला गया था। वहां पर उसने सुमित के साथ मिलकर जिदी को मारने की योजना बनाई। चोरी की कार पर लुधियाना का नंबर लगा आए थे शहर

मोनी और सुमित ने 17 जनवरी को रूड़की में मारुति शोरूम के सामने हरि शगुन वैडिग प्वाइंट से शादी समारोह से रात्रि के समय हीरो स्पलेंडर प्लस चोरी किया और इसी पर 19 जनवरी की शाम 5:30 बजे दोनों ने सरकारी पार्किग बहादराबाद पर वेगन आर कार लूटी थी। उस पर लुधियाना का नंबर लगाकर वह यहां आए और वारदात के बाद फिर हरिद्वार चले गए। हरिद्वार के क्राइम इनवेस्टीगेशन यूनिट की ओर से उसे भगवानपुर की तरफ से आते समय काबू किया है। उसने गाड़ी पर पीबी 10 एएच 6069 की नंबर प्लेट लगा रखी थी। वारदात के बाद वह दोनों फिर से हरिद्वार चले गए थे और वहां पर किराये पर कमरा लेकर रहने लगे थे। -----------

हमारी टीमें लगातार सुखविदर मोनी की तलाश कर रही थीं। हमने उसके खिलाफ एक लाख रुपये का इनाम भी रखा था। सुखविदर मोनी को उसके एक साथी के साथ हरिद्वार पुलिस ने काबू किया है। दोनों से पूछताछ करने और प्रोडक्शन वारंट पर लाने के लिए हमारी एक टीम रवाना हो चुकी है और उससे पूछताछ की जाएगी।

-राकेश अग्रवाल, पुलिस कमिश्नर, लुधियाना।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!