लुधियाना, [मुनीश शर्मा]। पंजाब में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने एक मार्च से कई पाबंदियों को घोषणा की है। वहीं, नाइट कर्फ्यू लगाने का अधिकारी सरकार ने जिला उपायुक्तों (DC) को दिया है।हालांकि अभी नाइट कर्फ्यू की घोषणा तो नहीं हुई हैं, लेकिन आशंकित हैं। इसका सीधा असर मार्च अप्रैल में होने वाले शादी समारोह की बुकिंग पर हो रहा है।

असमंजस की स्थिति में मैरिज पैलेस, होटल मालिकों पर समारोह कैंसिल करने या रात के बजाय सुबह शिफ्ट करने या मेहमानों की संख्या को सीमित करने को लेकर पूछताछ बढ़ गई है। मैरिज पैलेस एवं होटल मालिक भी ग्राहक को सटीक जानकारी देने में असमर्थ हैंं। बात लुधियाना के मैरिज पैलसों की करें, तो शहर में तीन सौ से अधिक मैरिज पैलेस हैंं, जबकि 100 के करीब होटलों में शादियों का आयोजन होते हैं।

यह भी पढ़ें: हरियाणा सरकार का बड़ा तोहफा, अब हर बीपीएल परिवार करा सकेगा घर की मरम्मत, मिलेंगे 80 हजार रुपये

मार्च माह में शादियों के दिन कम होने के कारण भले ही शादियां कम हो रही हैंं, लेकिन इस कारोबार से जुड़े लोगों के मुताबिक मार्च में रात के समय तीन सौ से अधिक शादियों पर कर्फ्यू लगने की सूरत में असमंजस बना है। वहीं कई महीनों के बाद अप्रैल में शादियों के कई शुभ मुहूूर्त हैंं, इसको लेकर इन्क्वायरी भी कम हो गई है, क्योंकि लोगों में अभी कोविड के चलते नए नियमों को लेकर चर्चाओं को लेकर भय बना हुआ है।

यह भी पढ़ें: हरियाणा में पकड़ी गई 100 करोड़ की बिजली चोरी, 236 टीमों ने की गुरुग्राम, धारूहेड़ा, फरीदाबाद, रेवाड़ी व हिसार में छापामारी

लुधियाना मैरिज पैलेस वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान अमरजीत सिंह संत के मुताबिक रात की शादियों को लेकर गंभीर स्थिति बन गई है। लुधियाना में मार्च में तीन सौ रात की शादियां हैंं। अगर रात का कर्फ्यू लगता है, तो इसका नुक्सान सहना पड़ेगा। इसके साथ ही लोग डर के चलते अप्रैल के शुभ मुहूूर्त होने के बावजूद बुकिंग के लिए नहीं आ रहे। सरकार को इसको लेकर स्थिति को स्पष्ट करना चाहिए, ताकि इस सेक्टर को भारी घाटा न सहना पड़े। पैलेस में केवल 100 इंडोर और 200 आउटडोर के हिसाब से शादियां करने में कास्टिंग ही पूरी नहीं हो पाती। ऐसे में आने वाले दिनों में पैलेसों के लिए यह बेहद कठिन समय है।

यह भी पढ़ें: केंद्र का किसानों को तोहफा, किन्नू व आलू उत्पादकों को ढुलाई व स्टोरेज पर मिलेगी 50 फीसद सब्सिडी

पंजाब होटल एवं रेस्टोरेंट एसोसिएशन के प्रधान अमरवीर सिंह के मुताबिक सरकार की ओर से गाइडलाइन जारी की जानी चाहिए। अफवाहों के चलते हमारा काम बेहद कम रह गया है। होटल एवं रेस्टोरेंट की ओर से नियमों का पूर्ण रूप से पालन किया जा रहा है और अगर दोबारा रात का लाकडाउन होता है, तो इंडस्ट्री बुरी तरह से प्रभावित होगी।

यह भी पढ़ें: नाइट कर्फ्यू की आशंका से असमंजस में लोग, पंजाब में मैरिज पैलसों के कारोबार पर पड़ने लगा असर

यह भी पढ़ें: डीजीपी विवाद मेंं नया मोड़; हरियाणा के गृह सचिव ने नहीं भेजा पैनल, विज को लिखा जवाबी खत

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021