पटियाला, जेएनएन। थाना लाहौरी गेट के तहत विकास कालोनी में एक बुजुर्ग महिला के चेहरे पर टेप लपेट कत्ल कर दिया बै। महिला के तीनों बेटे वकील हैं जबकि पति बार काउंसिल के पूर्व चेयरमैन रह चुके हैं, जिनकी करीब एक साल पहले मौत हुई है। मृतका कमलेश रानी सिंगला (उम्र करीब 60 साल) का शव बुधवार सुबह उनके मंझले बेटे ने देखी, जो उनके बगल में बने मकान के अंदर रहता है। आरोपितों ने वारदात को अंजाम देने के लिए उनके मंझले बेटे हैरी सिंगला के आफिस के जरिए एंट्री की थी। मौके पर पहुंची एसपी सिटी वरूण शर्मा, एसपी डी हरमीत सिंह हुंदल, डीएसपी योगेश शर्मा, डीएसपी कृष्ण कुमार पैंथे, सीआइए स्टाफ इंचार्ज राहुल कौशल थाना लाहौरी गेट, इंचार्ज जसप्रीत सिंह के साथ फोरेंसिंक की टीम मौके पर पहुंची, जिन्होंने पड़ताल शुरू कर दी।

मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने कहा कि शुरुआती जांच में मामला प्लांड मर्डर का लग रहा है, जिसे लूट दिखाने की कोशिश की गई है। घटनास्थल की जांच के दौरान पाया कि आरोपितों ने हर सुरक्षा इंतजाम को भेदने के बाद वारदात को अंजाम दिया और घर में लगे सीसीटीवी कैमरे के डीवीआर को भी अपने साथ चुराकर ले गए। ऐसे में घटना को लेकर हर पहलु पर जांच की जा रही है क्योंकि परिवार के नजदीकी व जानकार भी शक के दायरे में है।

यह है मामला

घटना के अनुसार कमलेश रानी के पति नरिंदर कुमार सिंगला बार काउंसिल के पूर्व चेयरमैन हैं, जिनकी करीब एक साल पहले ही नेचुरल तरीके से मौत हुई थी। उनके तीन बेटे हैं, जिनमें से दो बेटे शैरी सिंगला व सन्नी सिंगला पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में बतौर वकील हैं। मंझला बेटा हैरी सिंगला उम्र करीब 35 साल पटियाला जिला अदालत में बतौर वकील हैं और विकास कालोनी स्थित मकान में अपनी मां, पत्नी व दोनों बेटों के साथ रहते थे। मकान को दो हिस्सों में बनाया हुआ था, जिसमें से एक हिस्सा हैरी के पास है और इसमें आफिस भी बना रखा है। आरोपितों ने इस आफिस के दरवाजे पर लगे शीशे को निकालने के बाद दरवाजा खोलकर एंट्री की और आफिस के अंदरूनी दरवाजे के जरिए कमलेश रानी के कमरे तक तक पहुंचे। जहां पर उनके पर सिर पर भारी वस्तु से वार कर जख्मी कर दोनों हाथों को पीछे की तरफ बांधने के बाद उनके पूरे चेहरे पर टेप लपेट कर दी ताकि दम घुटने से उनकी मौत हो जाए। आरोपितों ने कमरे में अलमारी व अन्य हिस्सों का सामान बिखेरा हुआ था। मौके से कुछ सामान चोरी होने की आशंका है लेकिन महिला के पहने कुछ गहने आरोपित अपने साथ नहीं लेकर गए।

हाल ही में मनाई थी पति की पहली बरसी

कमलेश रानी के पति नरिंदर सिंगला की हाल ही में पहली बरसी थी, जिसमें तीनों बेटे शामिल थे। चंडीगढ़ से आया एक बेटा वापस लौट गया था लेकिन दूसरा बेटा बाद में लौटा था। ऐसे में घर पर हैरी सिंगला व उनका परिवार ही रह गया था, जो मंगलवार रात करीब मां के साथ बातचीत करते रहे। इसके बाद कमलेश रानी अपने कमरे में सोने चली गई और हैरी भी अपने परिवार के साथ कमरे में जाकर सो गए। अगले दिन सुबह उन्होंने करीब छह बजे उठकर देखा, जिसके बाद अपने भाईयों को सूचना दी। इसके अलावा जिला बार एसोसिएशन के प्रधान जतिंदरपाल सिंह घुमान को पता चला तो वह तुरंत मौके पर पहुंचे।

रात को कई बार गली में घूमा था चौकीदार

कालोनी के प्रधान गुरमीत सिंह बाजवा ने कहा कि वह रात साढ़े 12 बजे तक जाग रहे थे, उस समय बेटा काम से घर लौटा था। इसके बाद रात करीब दो बजे मोहल्ले का चौकीदार आया था, जिसे चाय बनाकर दी थी। सुबह अमृतसर जाना था तो करीब चार बजे फिर से दोबारा चौकीदारों को चाय बनाकर दी और अमृतसर जाने के लिए तैयार हुए। पांच बजे के करीब वह घर से निकले थे, ऐसे में रात को मोहल्ले में ऐसी की हलचल न तो देखी और न ही सुनी, जिससे शक हो।

चौकीदार से उलझा परिवार

मृतका का शव पोस्टमार्टम के लिए राजिंदरा अस्पताल भेजते हुए थाना लाहौरी गेट पुलिस ने अनजान लोगों के खिलाफ कत्ल केस दर्ज कर लिया। उधर मोहल्ला निवासी मृतका के परिवार के लोग चौकीदार से उलझ गए। चौकीदारी करने वाले सिमरन सिंह ने अपनी सफाई देते हुए कहा कि वह एक बजे के करीब उसने गली में चक्कर लगाया था, जिसके बाद गले के दूसरे किनारे बेरीकेड लगाकर बैठ गए थे। बाद में चार बजे के करीब भी चक्कर लगाया था। चक्कर लगाते समय वह डंडा खड़काते हैं, जिस पर कई घरों ने एतराज भी जताया था कि डंडे न खड़काएं। परिवार व चौकीदार के बीच बहस होती देख पुलिस ने दोनों को अलग कर भेजा।