लुधियाना, [ डीएल डॉन]। प्याज और सब्जियों के भाव इन दिनों आसमान छू रहे हैं। हालत यह हैं कि प्याज की कीमत 40 से सौ रुपये तक पहुंच चुकी है। इससे यह आम आदमी के किचन के साथ-साथ होटल-रेस्तरां और ढाबों से गायब होने लगी है। स्थिति यह है कि सलाद में अब प्याज की जगह मूली ने मोर्चा संभाल रखा है। वहीं लोग अपने घरों में भी प्याज का इस्तेमाल लिमिट में कर रहे हैं।

प्याज के बढ़े दाम से न केवल गृहणियों को बल्कि रेहड़ी-फड़ी वालों को दुकानदारी भी प्रभावित होने लगी है। वहीं कुछ समय पहले तक हरे प्याज का रेट 20 रुपये प्रति किलो था, जो बढ़कर अब 40 रुपये हो चुका है। लोगों के किचन फ्रीज में दो-चार सब्जियां हुआ करती थी तो इस समय लोग मुश्किल से एक दो सब्जियां लाकर जरूरत पूरा कर रहे हैं। गृहणियां अब वहीं सब्जियां खरीदती है जिसकी खास जरूरत हो। 

क्या कहते हैं रेहड़ी-फड़ी वाले 

प्याज और सब्जियों के आसमान छू हरे भाव के बारे में रेहड़ी-फड़ी वाले दिनेश कुमार और राकेश कुमार ने कहा कि रेहड़ी-फड़ी वाले तो खुदरा बिक्रेता हैं। मंडी में जो रेट सब्जी मिलती है, उसमें कुछ मुनाफा लेकर रेहड़ी पर सब्जियां बेचते हैं। आम आदमी डेली सब्जी खरीदते हैं उसी तरह रेहड़ी फड़ी वाले भी रोजना खरीद कर बेचते हैं। उन्होंने कहा कि प्याज उत्पादक राज्यों से ही खपत के मुताबिक प्याज कम आ रही है, जिसकी वजह से भाव बढ़े हैं।

 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sat Paul

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!