लुधियाना, जेएनएन। चंदर नगर में पड़ोस में रहते युवकों ने साथियों के साथ मिलकर रिटायर्ड सुपरिंटेंडेंट जगजीत सिंह के घर में घुसकर गोलियां चलाई। यही नहीं आरोपित रिटायर्ड सुपरिटेंडेंट को अगवा कर सिविल अस्पताल ले आए। फिर पुलिस के वहां पहुंचने पर हमलावर फरार हो गए। घायल जगजीत की शिकायत पर थाना सदर पुलिस ने मोहित साहनी, रोहित साहनी और रजत साहनी समेत अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है।

शिकायतकर्ता चंदर नगर निवासी जगजीत के मुताबिक वह पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में सुपरिटेंडेंट थे। कुछ ही साल पहले रिटायर्ड हुए। दीवाली की रात उनका बेटा मंदीप सिंह ऋषि नगर के नजदीक खाना खाने के लिए एक रेस्तरां में गया था। रंजिश के चलते पड़ोस में रहते आरोपित तीन भाइयों समेत कुछ लोग मौके पर आए और झगड़ा करना शुरू कर दिया। इस दौरान आरोपितों ने बेटे मंदीप के साथ मारपीट की। झगड़े के दौरान आरोपितों का एक दोस्त भी घायल हो गया। हमला करने के बाद आरोपित घायल हुए दोस्त को लेकर सिविल अस्पताल चले गए। उसके बाद तीनों आरोपित भाई अपने साथियों के साथ इकट्ठा होकर रात करीब एक बजे उनके घर के बाहर आ गए और गेट पर दो गोलियां मारी। फिर अंदर आकर जगजीत के पैर के नजदीक गोली मारी, लेकिन उनका बचाव हो गया। उसके बाद हमलावरों ने घर में जमकर बोतलें चलाई और तोड़फोड़ करनी शुरू कर दी। आरोपितों ने घर में पड़ा टीवी और फ्रिज भी तोड़ दिया। उसके बाद जबरदस्ती रिटायर्ड सुपरिंटेंडेंट जगजीत को कार में बिठाकर सिविल अस्पताल ले गए।

अस्पताल में पुलिस पहुंची तो मौके से फरार हुए हमलावर

पुलिस को जब इस घटना की सूचना मिली तो वह सिविल अस्पताल पहुंच गई। इतने में आरोपित रिटायर्ड सुपरिंटेंडेंट और कार को वहीं पर छोड़कर फरार हो गए। हमले के दौरान आरोपित सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हो गए। जगजीत ने आरोप लगाया कि आरोपित कांग्रेसी हैं और उनके उपर तक संबंध हैं। उधर, पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश करनी शुरू कर दी है।

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!